लंड लेने के नाम से मुस्कारा ऊठी

Antarvasna, hindi sex stories: मैं दिल्ली मे नौकरी करता हूँ मै मल्टीनेशनल में काम करता हूं। जब मैंने कंपनी जॉइन कर ली तो उसी दिन दो और लड़कियों ने भी जॉइन किया था। उन दोनों में से एक लडकी बहुत आकर्षक थी और मैं उसे अक्सर देखता रहता था, उसका नाम आकांक्षा है। वह 25…


मै भाभी का दीवाना हो गया

Antarvasna, kamukta: सुबह के वक्त मैं सोकर उठा मैं जब सो कर उठा तो उस वक्त सुबह के 6:00 बज रहे थे मैंने सोचा कि क्यों ना मैं अपने घर के बाहर टहलने चला जाऊं वैसे तो मैं कभी भी टहलने के लिए नहीं जाता था लेकिन उस दिन मैं अपने घर के बाहर ही…


अपने पैर खोले बैठी थी

Antarvasna, hindi sex story: मैं अपने मामा के घर से वापस लौट रहा था मेरे साथ मेरी मम्मी भी कार में बैठी हुई थी मम्मी मुझसे बात कर रही थी और कहने लगी कि गौतम बेटा तुम घर कितने दिनों तक रुकने वाले हो। मैंने अपनी मां से कहा मम्मी अभी तो मैं कुछ दिनों…


चूत साफ करने के लिए कोई कपड़ा दे दो

Antarvasna, desi sex kahani: घर के बाहर काफी शोर शराबा हो रहा था मैंने अपनी मां से पूछा मां बाहर कौन शोर कर रहा है तो मां कहने लगी पता नहीं बेटा। मैं जब बाहर की तरफ देखने गया तो हमारे पड़ोस में रहने वाले गोविंद जी और कमलेश जी का झगड़ा हो रहा था…


मैने देखा उसका लंड खड़ा था

Antarvasna, kamukta: कुछ दिनों पहले दीदी घर पर आई थी जब दीदी घर पर आई तो उस दौरान हम लोगों ने काफी अच्छा समय साथ में बिताया फिर दीदी अपने ससुराल चली गई। दीदी कुछ दिनों पहले ही घर पर आई थी और सब कुछ ठीक था लेकिन जब एक दिन दीदी का मुझे फोन…


बंद कमरा, मैं और वो

Antarvasna, kamukta: हमारा पूरा परिवार अभी संयुक्त परिवार में रह रहा है घर में छोटी मोटी अनबन तो होती ही रहती हैं लेकिन फिर भी मेरी मां ने आज तक घर की बागडोर संभाल कर रखी हुई है और वह परिवार को एकजुट करने में हमेशा ही लगी रहती हैं। पिताजी के देहांत के बाद हम…


चूत फाड़ता मेरा लंड

Antarvasna, kamukta: मेरे और कशिश के बीच अब दीवार बहुत ज्यादा बढ़ चुकी थी हम दोनों एक दूसरे से अलग हो चुके थे कशिश भी अपनी नौकरी के लिए मुंबई चली गई थी और मैं अभी भी चंडीगढ़ में ही था। मैं चंडीगढ़ में अपने पिताजी का काम संभाल रहा था हम दोनों के बीच…


भाभी की रसीली चूत

Antarvasna, kamukta: मोहन का फोन मुझे आता है और कहता है कि गगन तुम भैया की शादी में तो आ रहे हो ना मैंने मोहन को कहा क्यों नहीं मैं जरूर आऊंगा। मोहन मेरा बचपन का दोस्त है और अब वह लोग इंदौर में रहते हैं पहले मोहन हमारे पड़ोस में ही रहा करता था…


साहब लंड है या हथौड़ा

Antarvasna, sex stories in hindi: पारुल की तबियत कुछ दिनों से बिल्कुल भी ठीक नहीं थी और मां भी बूढ़ी हो चुकी हैं, पारुल मुझे कहने लगी कि मुझे लगता है कि आपको घर में परेशानी होने लगी है क्यों ना हम लोग किसी को घर के काम के लिए रख लेते हैं। मैंने पारुल…


Page 1 of 8
1 2 3 8

error: