पूर्वी की चूत की गर्मी का मजा


Antarvasna, desi kahani: मैं पुणे का रहने वाला हूं और पुणे से ही मैंने अपनी एमबीए की पढ़ाई पूरी की। मैं उसके बाद पुणे की एक अच्छी कंपनी में नौकरी करने लगा। मैंने वहां पर 2 वर्षों तक नौकरी की और उसके बाद मैं वहां से मुंबई आ गया। अब मैं मुंबई में ही रहने लगा था और मुंबई में ही मैं जिस कंपनी में जॉब करता हूं उसी कंपनी में पूर्वी भी नौकरी करती है। पूर्वी से पहले मेरी इतनी बातचीत नहीं थी लेकिन समय के साथ-साथ हम दोनों एक दूसरे से बात करने लगे और हम दोनों को एक दूसरे का साथ भी बहुत अच्छा लगने लगा। मैं जब भी पूर्वी के साथ होता तो मुझे अच्छा लगता और पूर्वी को भी मुझसे बात करना बहुत ही अच्छा लगता। हम दोनो एक दूसरे के बहुत ज्यादा करीब आते जा रहे थे।

हम लोग एक दूसरे से प्यार भी करने लगे थे मैं और पूर्वी एक दूसरे के साथ बहुत ही खुश हैं और जिस तरीके से हम दोनों का रिलेशन चल रहा है उससे मुझे बहुत ही अच्छा लगता है और हम दोनों हमेशा ही अपने ऑफिस के बाद एक दूसरे को मिला करते है। हम दोनो को एक दूसरे के साथ समय बिताना अच्छा लगता है। मेरे जीवन में पूर्वी का बहुत ही महत्व है वह अगर ऑफिस नहीं आती तो मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता था।

जिस दिन भी मैं पूर्वी से बात नहीं कर पाता या उससे मुलाकात नहीं हो पाती तो मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता। पूर्वी के साथ भी बिल्कुल ऐसा ही था क्योंकि वह मुझसे बहुत ज्यादा प्यार करती है। पूर्वी और मैं लंच टाइम में साथ में बैठे हुए थे पूर्वी ने मुझे कहा तुमने मुझे बताया नहीं कि तुम पुणे जा रहे हो। मैंने पूर्वी को कहा मैं तुम्हें बताने ही वाला था मैंने पूर्वी को पूछा लेकिन यह बात तुम्हें किसने बताई? वह मुझे कहने लगी मुझे सार्थक ने बताया कि तुम कुछ दिनों के लिए पुणे जा रहे हो। मैंने पूर्वी को कहा तुम्हें बताने ही वाला था।

मैंने पूर्वी से कहा काफी दिन हो गए हैं मैं पापा मम्मी से भी नहीं मिला था तो सोच रहा हूं कुछ दिनों के लिए उन्हें मिला आता हूं। पूर्वी मुझे कहने लगी यह तो अच्छा है तुम उन्हे कुछ दिनों के लिए मिल आओ। उस दिन जब हम लोग शाम के वक्त एक दूसरे के साथ कॉफी शॉप में बैठे हुए थे तो पूर्वी ने मुझे कहा मैं तुम्हारे बिना एक पल भी नहीं रह सकती हूं और हम दोनों एक दूसरे से बहुत ज्यादा प्यार करते हैं। मैंने पूर्वी को कहा मैं भी तुम्हारे बिना एक पल नहीं रह सकता हूं और उस दिन हम दोनों कॉफी शॉप में काफी देर तक बैठे रहे। हम दोनों को पता ही नहीं चला कि कब हम लोगों को वहां पर ढाई घंटा हो चुके थे। मैंने पूर्वी से कहा अब हमे घर चलना चाहिए और हम लोग वहां से अब घर लौट आए थे।

मैंने पूर्वी को रात को फोन किया तो पूर्वी से पूछा क्या वह घर पहुंच चुकी है? उसने मुझे कहा वह घर पहुंच चुकी है कुछ दिनों बाद ही मैंने ऑफिस से छुट्टी ले ली थी। जब मैंने ऑफिस से छुट्टी ली तो मैं कुछ दिनों के लिए पुणे आ गया और मेरी पूर्वी से फोन पर ही बाते हो पाती थी। मुझे यह बहुत ही अच्छा लगा कि मैं अपनी फैमिली के साथ समय बिता पा रहा हूं। मैं इस बात से बड़ा ही खुश था पूर्वी और मैं दूसरे को बहुत ज्यादा प्यार करते हैं और जब भी हम लोग एक दूसरे के साथ होते तो हमें बहुत ही अच्छा लगता है। मैं कुछ दिनों के बाद तो मुंबई लौट आया था जब मैं मुंबई लौटा तो उस दिन मैं और पूर्वी साथ में थे। हम दोनों एक दूसरे से बातें कर रहे थे और हम दोनों को ही बहुत अच्छा लगा। जब हम दोनों एक दूसरे के साथ थे मैंने पूर्वी से कहा पूर्वी क्या कल तुम फ्री हो?

वह मुझे कहने लगी हां मैं कल मैं घर पर हूं क्योंकि अगले दिन हम दोनों की छुट्टी थी और मैंने पूर्वी से कहा चलो कल हम लोग शॉपिंग कर आते हैं और इस बहाने हम लोग साथ में समय भी बिताए। पूर्वी कहने लगी ठीक है मैं पूर्वी को सुबह के 10:00 बजे मिला और हम लोग वहां से शॉपिंग मॉल चले गए। शॉपिंग मॉल में हम लोगों ने पहले तो शॉपिंग की और उसके बाद हम लोगों ने लंच भी वहीं पर किया। मैंने पूर्वी को कहा चलो मूवी देख आते हैं और हम लोग मूवी देखने के लिए चले गए। हम लोगो ने मूवी देखी उसके बाद हम लोग घर लौट आए थे। उस रात मैंने पूर्वी के साथ फोन पर काफी देर तक बात मेरी पूर्वी से फोन पर बहुत देर तक बात हुई है और मुझे बहुत ही अच्छा लगा जब उस दिन मेरी पूर्वी से फोन पर बात हुई थी। हम दोनों एक दूसरे के साथ बहुत ज्यादा खुश हैं और मुझे भी पूर्वी के साथ समय बिताना अच्छा लगता है।

अब हम दोनों को लगने लगा था क्या हम दोनों को एक दूसरे के साथ शादी कर लेनी चाहिए क्योंकि हम दोनों की शादी की उम्र भी हो चुकी है। मैंने पूर्वी से कहा लेकिन हमें थोड़ा समय एक दूसरे को और देना चाहिए। पूर्वी कहने लगी हां तुम ठीक कह रहे हो। हम दोनों एक दूसरे के साथ रिलेशन में हैं और एक दूसरे के साथ हम दोनों बहुत ही ज्यादा खुश है मैं जब भी पूर्वी के साथ होता तो मुझे अच्छा लगता है और उसे भी बहुत ही अच्छा लगता है। एक दिन पूर्वी और मैं ऑफिस से घर लौट रहे थे। उस दिन जब हम दोनों साथ में थे तो मैंने पूर्वी से कहा क्या तुम आज मेरे साथ चल सकती हो? पूर्वी मुझे कहने लगी हां क्यों नहीं। पूर्वी को मुझ पर पूरा भरोसा था और वह उस दिन मेरे साथ मेरे साथ आ गई। हम दोनों उस दिन साथ में थे। मैंने पूर्वी के नजदीक जाने की कोशिश की और वह भी मेरे नजदीक आती चली गई। अब पूर्वी को मैंने अपनी बाहों में समा लिया था। हम दोनों एक दूसरे की आंखो में देख रहे थे।

मैं पूर्वी की आंखों में देखता तो मुझे अच्छा लगता और पूर्वी भी कहीं ना कहीं मेरे साथ सेक्स करने का मन बना चुकी थी। मैंने पूर्वी के गुलाबी होठों को चूसना शुरू किया। मैं जब उसके गुलाबी होठों को चूमने लगा तो मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लगने लगा था और उसे भी बड़ा मजा आ रहा था जिस तरीके से वह मेरी गर्मी को बढ़ा रही थी। हम दोनों की गर्मी बढ़ती जा रही थी और हम दोनों एक दूसरे के साथ बहुत ही ज्यादा खुश थे। मैं पूर्वी की गर्मी को बहुत ज्यादा बढ़ा चुका था मैंने जब पूर्वी के सामने अपने लंड को किया तो वह मुझे कहने लगी तुम्हारा लंड कितना मोटा है। मैंने पूर्वी से कहा तुम्हें इसे अपने मुंह में लेना है और पूर्वी ने मेरे लंड को अपने हाथों में लिया वह उसे सहलाने लगी थी।

वह काफी देर तक तो मेरे लंड को सहलाती रही। जैसे ही पूर्वी ने मेरे लंड को अपनी जीभ पर टच किया तो मुझे अच्छा लगने लगा और वह मेरे लंड को अच्छी तरीके से चूसने लगी थी। मेरा लंड पूरी तरीके से गर्म हो चुका था और मुझे मजा आने लगा था। पूर्वी को भी अच्छा लग रहा था हम दोनों एक दूसरे की गर्मी को बढ़ाए जा रहे थे। मैंने पूर्वी से कहा तुमने मेरी गर्मी को बहुत ज्यादा बढ़ा दिया है। मैंने पूर्वी के कपड़े उतारते हुए उसके स्तनों का रसपान करना शुरू किया मुझे उसके स्तनो को चूसने में बहुत मजा आने लगा था और उसे भी बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था। जब वह मेरे साथ सेक्स के मज़े ले रही थी तो हम दोनों की गर्मी बढती जा रही थी और मैं पूरी तरीके से गर्म हो चुका था। मैंने पूर्वी की चूत को चाटना शुरू किया उसकी चूत से निकलता हुआ पानी बहुत बढने लगा था।

उसकी चूत से इतना अधिक पानी निकलने लगा था मैं बिल्कुल भी रह नहीं पा रहा था और पूर्वी भी अपने आपको रोक नहीं पा रही थी। मैंने पूर्वी की चूत के अंदर अपने लंड को घुसा दिया था और उसकी योनि में मेरा लंड जाते ही वह जोर से चिल्लाने लगी और कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है। मैं और पूर्वी एक दूसरे का साथ अच्छे से दे रहे थे। पूर्वी को मज़ा आ रहा था और उसकी चूत के अंदर मेरा लंड आसानी से जाने लगा था। मैंने देखा पूर्वी की चूत से खून बाहर निकल रहा है मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था जब मैं हम दोनो एक दूसरे के साथ सेक्स के मज़े ले रहे थे। हम दोनों ने एक दूसरे के साथ जमकर सेक्स के मजे लिए और मेरे धक्को मे तेजी आती जा रही थी। मेरे धक्को में इतनी तेजी आ चुकी थी पूर्वी मुझे कहने लगी मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा है अब मैं पूर्वी को जमकर धक्के दिए जा रहा था।

मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था जब मैं पूर्वी की चूत के मजे ले रहा था और पूर्वी के साथ में जिस तरीके से सेक्स का मजे ले रहा था वह बहुत ही अच्छा था। मैं उसे तेजी से चोद रहा था उसकी चूत की गर्मी अब इस कदर बढ़ चुकी थी उसकी चूत से निकलता हुआ पानी भी बढ़ाने लगा था और मैं उसे तेजी से धक्के दिए जा रहा था। जैसे ही मैंने अपने वीर्य को उसकी चूत में गिराया तो वह खुश हो गई थी और मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लगा। हम दोनों को बड़ा ही अच्छा लगा था जिस तरीके से पूर्वी और मैंने एक दूसरे की गर्मी को शांत किया था। यह हम दोनों के लिए बहुत ज्यादा अच्छा था और हम दोनो बहुत ज्यादा खुश है।