पहली रात सफल रही


Antarvasna, kamukta: मैं अपनी कार से ऑफिस जा रहा था उस वक्त मेरे दोस्त का फोन मुझे आया और वह कहने लगा कि गगन तुम अभी कहां हो तो मैंने उसे बताया कि मैं तो अभी अपने ऑफिस जा रहा हूं। उसने मुझे कहा कि क्या तुम अभी मेरे घर पर आ सकते हो मैंने अजीत से कहा कि इस वक्त तुम्हारे घर पर आना तो संभव नहीं होगा। अजीत ने मुझे बताया कि उसे कुछ जरूरी काम है इसलिए मुझे उसके घर जाना पड़ा और ऑफिस से मुझे उस दिन छुट्टी लेनी पड़ी। मैं जब अजीत के घर गया तो अजीत काफी ज्यादा परेशान था अजीत के घर पर सामान पूरी तरीके से बिखरा हुआ था।  मैं उसके घर की स्थिति देखकर उससे कहने लगा कि अजीत तुम्हारे घर पर तो पूरा सामान बिखरा पड़ा है तो मुझे अजीत ने बताया कि आज उसका और उसकी पत्नी का बहुत झगड़ा हुआ जिस वजह से उसके घर का सामान पूरा बिखरा हुआ था और उसकी पत्नी नंदिता भी अपने घर चली गई थी।

मैंने अजीत से जब उसका कारण पूछा तो अजीत मुझे कहने लगा कि हम दोनों के बीच काफी समय से तनाव चल रहा था और हम दोनों के बीच रिश्ते बिल्कुल भी ठीक नहीं थे मैं चाहता हूं कि मैं नंदिता को डिवोर्स दे दूं लेकिन यह सब इतना आसान भी नहीं है। अजीत बहुत ही ज्यादा परेशान था और अजीत के चेहरे पर साफ तनाव नजर आ रहा था मैंने अजीत को कहा कि देखो अजीत तुम्हें अपना ध्यान रखना होगा। अजीत मेरा सबसे अच्छा दोस्त है उसके माता-पिता के गुजर जाने के बाद अजीत ने हीं अपनी छोटी बहन की शादी करवाई थी। अजीत ने हमेशा ही अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाया है लेकिन जबसे अजीत की पत्नी के साथ उसके झगड़े होने लगे हैं तब से उन दोनों के बीच कुछ भी ठीक नहीं है। अजीत को मैंने समझाया तो अजीत कहने लगा कि मैं काफी ज्यादा परेशान हूं लेकिन उस वक्त मैं भी अजीत की कोई मदद नहीं कर सकता था मैं बेबस था। मैंने अजीत से कहा कि अजीत आज तुम मेरे साथ मेरे घर पर चलो लेकिन अजीत ने मना कर दिया अजीत की शादी को चार वर्ष हो चुके हैं पहले नंदिता और उसके बीच ऐसा कुछ भी नहीं था लेकिन कुछ समय से ही उन दोनों के बीच झगड़े शुरू हो गए जिस वजह से उन दोनों के बीच अब बिल्कुल भी कुछ ठीक नहीं चल रहा था।

उसके काफी दिनों तक मैं अजित से मिल नहीं पाया क्योंकि मैं अपने काम के सिलसिले में चंडीगढ़ गया हुआ था जब मैं चंडीगढ़ से वापस लौटा तो मैं अजीत से  मिला अजीत ने मुझे बताया कि उसने अपनी पत्नी नंदिता को डिवोर्स दे दिया है। मैंने अजीत को कहा क्या तुमने नंदिता से बात नहीं की थी तो वह मुझे कहने लगा कि मैंने नंदिता को उसके बाद भी समझाने की कोशिश की लेकिन वह मेरी एक बात नहीं मानी और मैंने उसे डिवोर्स दे दिया, वह भी मुझे डिवोर्स देना चाहती थी। अब उन दोनों का डिवोर्स हो चुका था और अजीत कुछ समय तक तो इसी परेशानी में था लेकिन थोड़े ही समय बाद उसने शादी कर ली। उसने दूसरी शादी कर ली थी और अजीत अब अपनी जिंदगी में खुश था अपनी पहली शादी के टूट जाने के बाद वह काफी समय तक मानसिक रूप से तनाव में था लेकिन अब वह ठीक होने लगा था। उसकी शादी मोनिका से हुई मोनिका और वह दोनों एक दूसरे को बहुत प्यार करते हैं और मोनिका उसका बहुत ध्यान भी रखती थी जिस वजह से अजीत और मोनिका के बीच सब कुछ ठीक चल रहा था। एक दिन मैं अजीत और मोनिका से मिलने के लिए गया अजीत और मोनिका से जब मैं मिला तो उस दिन उन्हीं के साथ मैंने उनके घर पर डिनर किया। नंदिता अब अजीत की जिंदगी से बहुत दूर जा चुकी थी अजीत को भी उसके बारे में कुछ पता नहीं था लेकिन एक दिन अजीत ने मुझे बताया कि नंदिता ने भी शादी कर ली है। अजीत अपनी शादी से खुश था और वह मोनिका को पूरा प्यार देने की कोशिश करता और मोनिका को उसने कभी कोई कमी महसूस नहीं होने दी। मेरी शादी अभी तक नहीं हुई थी और मैं अभी शादी नहीं करना चाहता था लेकिन जब मेरी मुलाकात संजना से हुई तो मैंने संजना से शादी करने का मन बना लिया था। संजना से मेरी मुलाकात एक दोस्त ने करवाई थी और जब मेरी मुलाकात संजना से हुई तो मैं उससे शादी करने के लिए तैयार था मैंने संजना से शादी की बात कही तो संजना भी मुझसे शादी करने के लिए तैयार हो चुकी थी।

मेरी उम्र 35 वर्ष की हो चुकी है और संजना की उम्र भी 30 वर्ष थी हम दोनों ने कोर्ट मैरिज करने का फैसला कर लिया था और हम दोनों जल्द ही कोर्ट मैरिज करने वाले थे। संजना के परिवार में सिर्फ उसकी मां ही है उसके पिताजी का देहांत काफी वर्ष पहले हो गया था और संजना की मां ने ही उसकी देखभाल की है। संजना एक अच्छी कंपनी में एक अच्छे पद पर है और मैं भी इस बात से बहुत ज्यादा खुश था कि मेरी शादी अब संजना से होने वाली है। जब हम लोगों की शादी हो गई तो हम दोनों बहुत ज्यादा खुश थे और मेरे दोस्तों ने मुझे मेरी शादी की बधाई दी, मैंने उन लोगों के लिए एक छोटी सी पार्टी का सरेंजमेंट किया था। हम दोनों ने शादी कर ली थी अब हम दोनों पति-पत्नी बन चुके थे मैं मोनिका के साथ शादी कर के बहुत खुश था। यह पहला मौका था जब हम दोनों के बीच शारीरिक संबंध बनने वाले थे उस दिन मोनिका काफी ज्यादा शर्मा रही थी मैंने मोनिका को कहा लेकिन तुम्हें शर्माने की जरूरत नहीं है परंतु उसने मुझे कुछ नहीं बोली और मैंने उसके हाथ को पकड़ते हुए उसके हाथ को चूम लिया। मैंने मोनिका को गिफ्ट दिया तो मोनिका के चेहरे पर खुशी थी मैने मोनिका के होठों को चूम लिया मोनिका ने कुछ नहीं कहा और मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया।

यह पहला मौका था जब मैं उसे किस कर रहा था मैंने उसको बहुत अच्छे से किस किया और उसकी चूत से खून भी बाहर निकाल दिया था। अब वह इतनी ज्यादा उत्तेजित हो गई थी कि वह मुझे कहने लगी मैं बिल्कुल भी रह नहीं पा रही हूं मुझसे भी बिल्कुल नहीं रहा जा रहा था इसलिए कहीं ना कहीं मैं उसे चोदना चाहता था। मैंने लंड को बाहर निकाला तो उसने भी उसे अपने हाथों में ले लिया और हिलाना शुरू किया जब वह ऐसा कर रही थी तो मुझे मज़ा आ रहा था और वह बड़े अच्छे से मेरे मोटे लंड को हिलाने लगी जिस से कि मेरे अंदर की गर्मी बढ़ती ही चली गई और मैंने उसे कहा मुझे मजा आने लगा है। वह भी पूरी तरीके से उत्तेजित हो गई थी उसने अपने मुंह के अंदर बहुत देर तक लंड को लिया और मेरे लंड से पानी बाहर निकाल दिया। मैंने भी मोनिका के बदन से कपड़े उतारने शुरु किए मैंने जब उसके कपड़े उतारे तो उसके स्तनों को देखकर मैंने अपने हाथ से दबाना शुरू किया और काफी देर तक मैं उसके स्तनों को अपने हाथ से दबाता रहा मुझे मजा आने लगा था और वह भी अब खुश हो चुकी थी। मैंने उसकी चूत पर अपनी जीभ को लगाकर उसकी योनि को बहुत देर तक चाटा जिस से कि उसकी चूत से पानी बाहर की तरफ आने लगा था और वह उत्तेजित होने लगी। उसने मुझे कहा मैं रह नहीं पा रही हूं वह तड़पने लगी थी और मेरे मोटे लंड को वह चूत में लेने के लिए बहुत ज्यादा बेताब थी। मैंने उसे कहा मैं तुम्हारी चूत के अंदर अपने लंड को डालना चाहता हूं वह तड़पने लगी थी वह मुझे कहने लगी जल्दी से तुम अपने लंड को अंदर घुसा दो। उसने अपने पैरों को खोल लिया और जैसे ही उसने अपने पैरों को खोला तो मैंने उसे कहा मैं तुम्हारी चूत के अंदर अपने लंड को डाल रहा हूं मैंने अपने लंड पर तेल लगा लिया जिससे कि मेरा लंड पूरी तरीके से चिकना हो चुका था और जब मैंने उसकी चूत के अंदर अपने लंड घुसा कर डालना शुरू किया तो बहुत जोर से चिल्लाई और बोली मुझे दर्द हो रहा है।

मैंने जब उसकी चूत के अंदर अपने लंड को घुसा दिया तो वह उत्तेजित हो गई थी और मुझे कहने लगी तुम और भी तेजी से मुझे चोदते रहो। मैं उसे तेजी से धक्के दिए जा रहा था जब मैंने उसकी चूतड़ों को थोड़ा सा ऊपर उठाया तो उसने अपने पैरों को खोल लिया और अब मेरा लंड उसकी जड़ के अंदर तक जा चुका था वह पूरी तरीके से उत्तेजित हो चुकी थी और मैंने उसके स्तनों को चूसना शुरू कर दिया। मेरे अंदर लगातार गर्मी बढ़ती जा रही थी वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही मजा आ रहा है तुम ऐसे ही मेरे स्तनों को चूसते रहो। अब मैं उसे बड़ी तीव्रता से धक्के दे रहा था मैंने उसे इतनी तेजी से धक्के दिए कि उसकी चूत के अंदर से पूरी तरीके से पानी बाहर निकल चुका था और जब मैंने उसकी चूत के अंदर अपने गरमा गरम वीर्य को गिराया तो वह खुश हो गई और कहने लगी आज मुझे मजा आ गया।

मैंने उसे कहा आज हमारी पहली रात सफल रही उसके बाद मुझे वह कहने लगी मुझे तुम एक बार और चोदो मुझे तुम्हारे लंड को लेना है वह तड़पने लगी थी। मैने उसके पैरों को खोला तो मुझे मजा आने लगा और मैंने उसकी चूत के अंदर बाहर अपने लंड को करना शुरू कर दिया मैं उसे पूरी ताकत के साथ पेले जा रहा था जिससे कि वह पूरी तरीके से उत्तेजित होती जा रही थी। वह मुझे कहने लगी तुम मुझे ऐसे ही चोदते जाओ मुझे बहुत अच्छा लग रहा है काफी देर तक मैंने उसकी चूत के मजे लिए और फिर जब मुझे एहसास होने लगा कि मैं ज्यादा देर तक उसका साथ नहीं दे पाऊंगा तो मैंने अपने वीर्य को उसकी योनि के अंदर ही गिरा दिया और उसकी इच्छा पूरी हो चुकी थी। मुझे बहुत अच्छा लगा मोनिका बहुत ज्यादा खुश हो चुकी थी उसके बाद हम दोनों एक दूसरे की बाहों में लेटे हुए थे हम दोनों एक दूसरे से बात कर रहे थे। मैंने मोनिका से कहा आज तुमने मुझे खुश कर दिया तो वह मुस्कुराते हुए मुझे कहने लगी तुम्हारा लंड भी कम मोटा नहीं है मेरी चूत में अभी तक दर्द हो रहा है। हम दोनों बातें करते करते ना जाने कब सो गए कुछ पता ही नहीं चला।


error: