मेरी और प्रिया की कोर्ट मैरिज


Antarvasna, desi kahani: मेरे कॉलेज का पहला दिन था और मैं जब अपने क्लास में गया तो उस दिन मेरी मुलाकात राघव के साथ हुई। मेरी मुलाकात राघव से पहली बार ही हुई और हम दोनों की दोस्ती भी काफी अच्छी हो गई थी। राघव और मेरी दोस्ती काफी अच्छी हो गई थी हमारे क्लास में ही महिमा पड़ती है महिमा और मेरे बीच काफी अच्छी दोस्ती थी। महिमा और मैं एक दूसरे के बहुत ज्यादा करीब होते चले गए और हम दोनों एक दूसरे को प्यार भी करने लगे थे लेकिन हम दोनों का रिलेशन ज्यादा समय तक नहीं चल पाया। महिमा के पापा का ट्रांसफर हो चुका था वह अब बेंगलुरु चली गई थी इसलिए हम दोनों एक दूसरे से दूर हो गए। जब मेरा कॉलेज कंप्लीट हुआ तो उसके बाद मैं  जॉब करने लगा। कॉलेज के कैंपस प्लेसमेंट के दौरान ही मेरी जॉब लग गई थी और मैं बड़ा खुश था जब मेरी जॉब लगी।

मैं अपनी जॉब की वजह से अपने दोस्तों को नहीं मिल पाता था क्योंकि मुझे बिल्कुल भी समय नहीं मिल पाता था मैं काफी ज्यादा बिजी रहने लगा था। मैं जिस ऑफिस में जॉब करता हूं उसी ऑफिस में मेरे साथ प्रिया जॉब करती है प्रिया बहुत ही अच्छी है और उसका नेचर बहुत ही अच्छा है इसलिए प्रिया और मेरी काफी ज्यादा अच्छी बनने लगी थी। हम दोनों एक दूसरे को समझने लगे थे और हम दोनों एक दूसरे से हर एक बात शेयर किया करते। मुझे बहुत ही अच्छा लगता है जब भी प्रिया और मैं साथ में होते प्रिया की फैमिली की आर्थिक स्थिति कुछ ठीक नहीं थी। प्रिया ने मुझे सब कुछ बता दिया था और मुझे बहुत ही अच्छा लगता। जब भी प्रिया और मैं साथ में होते तो हम दोनों को बहुत ही अच्छा लगता और हम दोनों बहुत ही खुश थे जिस तरीके से हम दोनों का रिलेशन चलने लगा था। मेरे और प्रिया के बीच की बढ़ती नजदीकियां अब और भी बढ़ती जा रही थी लेकिन प्रिया के पापा और मम्मी ने उसके लिए रिश्ता ढूंढ लिया था और वह लोग चाहते थे कि प्रिया उसी लड़के से शादी करे।

प्रिया ने जब मुझे इस बारे में बताया तो मैंने प्रिया को कहा कि तुम क्या चाहती हो प्रिया ने मुझे बताया कि मैं तो तुमसे ही शादी करना चाहती हूं और तुम्हारे साथ ही अपना जीवन बिताना चाहती हूं। यह सब इतना आसान होने वाला नहीं था क्योंकि प्रिया की फैमिली हम दोनों के रिश्ते को बिल्कुल भी स्वीकार नहीं कर रही थी जिस वजह से प्रिया और मुझे एक दूसरे से अलग होना पड़ा। मैं नहीं चाहता था कि मैं प्रिया से दूर रहूं। प्रिया ने अब ऑफिस से भी रिजाइन दे दिया था और उसके बाद प्रिया दूसरी जगह जॉब करने लगी थी। प्रिया मुझसे शादी करना चाहती थी परंतु प्रिया की फैमिली उसकी सगाई अपने पसंद के लड़के से करवाना चाहते थे और जब प्रिया की सगाई हो गई तो प्रिया और मैं एक दूसरे से अब दूर होने लगे थे।

हम दोनों एक दूसरे से काफी दूर हो चुके थे और कुछ समय बाद मुझे पता चला कि प्रिया की शादी तय हो गई है। जब प्रिया की शादी तय हो गई तो मैं चाहता था कि प्रिया और मैं एक दूसरे से मिले लेकिन प्रिया मुझसे नहीं मिलना चाहती थी। प्रिया ने मुझसे अपने सारे रिलेशन खत्म करने के बाद अब वह अपनी जिंदगी में आगे बढ़ चुकी थी और थोड़े ही समय बाद प्रिया की शादी हो गई। जब प्रिया की शादी हुई तो प्रिया और मैं एक दूसरे से काफी ज्यादा दूर हो चुके थे। प्रिया से मेरी ना तो बात हो पाती थी और ना ही मैं प्रिया को मिल पाता था लेकिन उसके बाद भी कहीं ना कहीं प्रिया के लिए मेरे दिल में अभी भी प्यार था। मैं चाहता था कि मैं प्रिया से एक बार मिलूँ लेकिन यह सब इतना आसान होने वाला नहीं था और मैं प्रिया को फोन करने की कोशिश कर रहा था लेकिन प्रिया से मेरा कोई संपर्क हो नहीं पाया था।

काफी लंबे समय बाद जब प्रिया से मेरी बात हुई तो मुझे उससे बात कर के बहुत ही अच्छा लगा उस दिन प्रिया ने मुझसे बात की तो प्रिया ने मुझे बताया कि उसकी जिंदगी में अब कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। मैंने प्रिया से कहा कि लेकिन तुम्हारी लाइफ में तो सब कुछ ठीक चल रहा था प्रिया ने मुझे बताया कि उसके पति और उसके बीच कुछ भी ठीक नहीं है। शायद इसी वजह से प्रिया ने उस दिन मुझसे बात की और प्रिया अब भी मुझसे प्यार करती है। मैं और प्रिया उस दिन एक दूसरे से काफी देर तक बात करते रहे। मैं और प्रिया चाहते थे कि हम दोनों एक दूसरे के साथ दोबारा से रिलेशन में रहे लेकिन यह सब इतना आसान होने वाला कहा था क्योंकि प्रिया के पति उससे डिवोर्स नहीं देना चाहते थे। कुछ समय बाद प्रिया अब पूरी तरीके से अपने पति से अलग हो चुकी थी लेकिन फिर मैंने उसका साथ दिया और प्रिया को कहा कि मैं तुम्हारा साथ हमेशा देने के लिए तैयार हूं।

प्रिया भी अपने पति के साथ नहीं रहना चाहती थी इसलिए हम दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे लेकिन यह सब इतना आसान होने वाला नहीं था। प्रिया और उसके पति के बीच अभी डिवोर्स नहीं हुआ था और वह चाहती थी कि उसके पति और वह डिवोर्स ले ले लेकिन उन लोगों का डिवोर्स नहीं हो पाया था। प्रिया और मैं एक दूसरे को अब मिलने भी लगे थे जब भी हम दोनों एक दूसरे से मिलते तो हम दोनों को बड़ा ही अच्छा लगता और हम दोनों एक दूसरे के साथ बहुत ही ज्यादा खुश थे। हम दोनों एक दूसरे के साथ पहले की तरह ही रिलेशन में रहने लगे थे और प्रिया और मैं अब एक दूसरे से शादी भी करना चाहते थे। हम दोनों की शादी का रास्ता इतना भी आसान नहीं था परन्तु कुछ ही समय मे प्रिया के पति ने उसे डिवोर्स देने का फैसला कर लिया था। प्रिया के पति उसे डिवोर्स दे चुके थे उसके बाद प्रिया और मैंने कोर्ट मैरिज कर ली।

जब प्रिया और मेरी कोर्ट मैरिज हुई तो हम दोनों एक दूसरे के साथ अपनी जिंदगी को अच्छे से बिताना चाहते थे और हम दोनों बहुत ज्यादा खुश है जिस तरीके से हम दोनों की शादी हुई। हम दोनों की जिंदगी में अब खुशियां वापस लौट चुकी थी मेरी लाइफ में प्रिया के आने से सब कुछ अच्छे से चलने लगा था। मेरी जिंदगी में बहुत खुशियां लौट आई थी प्रिया के मेरी जिंदगी में आने से मैं पूरी तरीके से बदलने लगा था मैं काफी ज्यादा खुश था और प्रिया भी बहुत ज्यादा खुश थी। जिस तरीके से हम दोनों का रिलेशन चल रहा था उससे हम दोनों एक दूसरे के साथ बड़े खुश हैं। समय के साथ साथ हम दोनों के बीच पहले की तरह ही प्यार होने लगा था और हमारी शादी को 6 महीने से ऊपर हो चुके थे। हमारी शादीशुदा जिंदगी अच्छे से चल रही थी प्रिया चाहती थी कि वह अब जॉब करें और प्रिया ने अब जॉब करने का फैसला कर लिया था।

प्रिया नौकरी करने लगी थी और मैं भी बहुत ज्यादा खुश था कि प्रिया मेरी जिंदगी में वापस लौट आई है। प्रिया और मैं बहुत ही ज्यादा खुश थे। एक रात हम दोनों साथ में लेटे हुए थे। मैं प्रिया के बदन को महसूस करने लगा था वह बहुत ज्यादा खुश हो रही थी। मैं प्रिया के स्तनो को दबाने लगा था वह बिल्कुल भी रह नहीं पा रही थी। वह भी बिल्कुल रह नहीं पा रही थी। प्रिया और मेरी गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ने लगी थी। मैंने पजामे मे खोला मेरा लंड तन कर खडा हो चुका था। वह मेरे लंड को अपने हाथ में लेने के लिए तैयार थी। प्रिया ने मेरे लंड को अपने हाथों में ले लिया था वह मेरे लंड को हिलाती जा रही थी। मुझे अब बहुत अच्छा लग रहा था प्रिया को भी बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था। हम दोनों बहुत ही ज्यादा गरम हो गए थे मेरी गर्मी इस कदर बढ़ चुकी थी मैं बिल्कुल भी रह नहीं पा रहा था प्रिया ने मेरे लंड को अपने मुंह मे ले लिया था वह मेरे लंड को सकिंग करने लगी थी। जब वह मेरे लंड को चूसने लगी थी तो उसको मजा आने लगा था मुझे भी बहुत ज्यादा मजा आ रहा था। मैंने प्रिया की चूत पर अपनी उंगली का स्पर्श किया मुझे बहुत मजा आने लगा था। मैंने प्रिया की चूत को चाटा मुझे मजा आ रहा था और प्रिया को भी मजा आ रहा था वह गरम होती जा रही थी।

प्रिया की चूत से पानी निकल रहा था प्रिया की गर्मी बहुत ज्यादा बढ रही थी। मैंने प्रिया से कहा मैं तुम्हारी चूत में अपने लंड को घुसाना चाहता हूं। मैंने एक जोरदार झटके के साथ अपने लंड को प्रिया की चूत मे प्रवेश करवा दिया था। जब मेरा लंड प्रिया की चूत में प्रवेश हुआ तो मुझे मजा आने लगा था और वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है। प्रिया को बहुत अच्छा लगने लगा था मैं उसे तेजी से चोद रहा था और प्रिया को भी बड़ा अच्छा लग रहा था जिस तरीके से हम दोनों एक दूसरे की गर्मी को बढ़ा रहे थे। मेरे धक्को मे तेजी आ रही थी। मेरा लंड प्रिया की चूत के अंदर बाहर हो रहा था प्रिया की गर्मी बढ़ती जा रही थी मेरी गर्मी भी बहुत ज्यादा बढने लगी थी। प्रिया ने अपने पैरो को चौडा कर लिया था प्रिया की चूत के अंदर मेरा लंड आसानी से जा रहा था मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था जब मैं और प्रिया एक दूसरे के साथ सेक्स का मजा ले रहे थे। हम दोनों की गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ चुकी थी मेरा माल गिरने को था मैंने प्रिया की चूत में अपने माल को गिराकर अपनी इच्छा को पूरा कर लिया था।