लंड ने तोड़ा चूत का घमंड


Antarvasna, kamukta: मैं अपने करीबी दोस्त मोहन की शादी के लिए चंडीगढ़ गया हुआ था उनके परिवार वालो ने मेरी खूब खातिरदारी की। मोहन की शादी में मैं पायल को मिला पायल से मेरी मोहन की शादी में ज्यादा बात तो नहीं हो पाई लेकिन उसके बाद जब मोहन मुझे मिला तो मैंने उससे पायल के बारे में पूछा। मोहन ने मुझे पायल के बारे में बताया और कहा कि उसकी सगाई कुछ समय पहले ही हुई थी लेकिन ना जाने उसकी सगाई कैसे टूट गई। मोहन के पड़ोस में ही पायल रहा करती है इसलिए वह पायल के बारे में सब कुछ जनता है। मैंने उससे पायल के बारे में सब कुछ पूछा तो उसने मुझे पायल का नंबर भी दे दिया और जब मेरे पास पायल का नंबर आ चुका था तो मैं यह सोचने लगा कि मुझे पायल से बात करनी चाहिए या नहीं। मैं इस बात से काफी ज्यादा घबराया हुआ था लेकिन फिर मैंने पायल को हिम्मत करते हुए फोन कर ही लिया। मुझे लगा था कि शायद पायल मुझे पहचान ही नहीं पाएगी लेकिन उसने मुझे पहचान लिया था।

यह पहली बार था जब हम दोनों की बातें हुई थी मुझे पायल के साथ बात करना अच्छा लगने लगा पायल को भी मेरे साथ बात करना काफी अच्छा लगा था। हम दोनों एक दूसरे के साथ बातें करने लगे थे हम दोनों को एक दूसरे से बात करना काफी अच्छा लगता। मैंने पायल को कहा कि मैं जब भी तुमसे बात करता हूं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है लेकिन हम दोनों का रिश्ता आगे नहीं बढ़ पा रहा था। पायल कि सगाई के टूट जाने के बाद वह बहुत ज्यादा परेशान रहने लगी थी और उसने मुझे अपने घर की स्थिति के बारे में सब कुछ बता दिया था। मैं पायल की स्थिति से रूबरू था और मैं चाहता था कि मैं पायल से मुलाकात करुं। हम दोनों एक दूसरे को मिलना चाहते थे तो मैं पायल को मिलने के लिए चंडीगढ़ चला गया। जब मैं पायल को मिलने के लिए गया तो वहां पर हम दोनों की काफी अच्छी मुलाकात हुई और मैंने पायल के साथ में काफी अच्छा समय व्यतीत किया। हम दोनों एक दूसरे के साथ में अच्छा टाइम स्पेंड कर रहे थे और मुझे बहुत अच्छा लगा जब मैंने पायल के साथ में समय बिताया।

हम दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करने लगे थे और अब मैंने पायल को अपने साथ शादी करने के लिए कन्वेंस भी कर लिया था और वह मेरे साथ शादी करने के लिए मान चुकी थी लेकिन पायल को कुछ समय चाहिए था। मैंने पायल को कहा कि कोई बात नहीं तुम्हें जब भी लगे की तुम्हें मुझसे शादी करनी है तो तुम मुझे बता देना। पायल और मैं एक दूसरे से फोन पर ही बातें किया करते जब भी मुझे पायल से मिलना होता तो मैं उसको मिलने के लिए चंडीगढ़ चला जाया करता। कुछ दिनों से मेरी पायल से फोन पर बात नहीं हो पा रही थी पायल का नंबर भी लग नहीं रहा था जिस वजह से मैं बहुत ज्यादा घबराया हुआ था। मैं पायल को फोन करने की कोशिश करता तो पायल का नंबर लगता ही नहीं था। करीब एक हफ्ते के बाद पायल का मुझे फोन आया। जब उसका मुझे फोन आया तो उसने मुझे बताया कि उसका फोन चोरी हो गया था इस वजह से वह मुझे फोन नहीं कर पाई थी। मैंने पायल को कहा तुम तो ठीक हो ना तो वह मुझे कहने लगी कि हां मैं ठीक हूं। मैं और पायल एक दूसरे से काफी बातें करते और हम दोनों को ही बहुत ज्यादा अच्छा लगता है जब भी हम दोनों एक दूसरे के साथ बातें करते। समय के साथ हम दोनों का रिश्ता और भी ज्यादा गहरा होता चला गया और हम दोनों एक दूसरे से बहुत ज्यादा प्यार करने लगे थे। अब पायल मेरे बिना बिल्कुल भी रह नहीं पाती थी और उसे भी यह बात अच्छे से मालूम थी कि अब हम दोनों को शादी कर लेना चाहिए और वह इस बात के लिए तैयार हो चुकी थी।

उसने मुझे अपनी फैमिली से मिलवाया और उसकी फैमिली में सब लोग मुझसे मिलकर बहुत खुश हुए। उन लोगों को मुझसे कोई एतराज नहीं था और वह लोग मुझसे पायल की शादी करवाने के लिए मान चुके थे। मैं और पायल अब एक दूसरे से शादी करने के लिए तैयार हो चुके थे और हम दोनों ने सगाई कर ली। जब हम दोनों की सगाई हुई तो हम दोनों बहुत ही ज्यादा खुश थे उसके बाद मैं चाहता था कि जल्द से जल्द मेरी और पायल की शादी हो जाए। हम दोनों की शादी का दिन भी अब नजदीक आने वाला था तो हम दोनों अपनी शादी की शॉपिंग करने लगे। कुछ ही दिनों बाद हमारी शादी होने वाली थी हमारी शादी दिल्ली में ही हुई और हम दोनों की शादी बड़े ही धूमधाम से हुई। पायल बहुत ज्यादा खुश थी और मैं भी बहुत ज्यादा खुश था कि मेरी शादी पायल से हो चुकी है पायल मेरी पत्नी बन चुकी थी। मैं नहीं चाहता था कि मैं पायल को किसी भी प्रकार से कोई कमी महसूस होने दूं। उसे कभी भी मेरी वजह से कोई परेशानी हो इसलिए पायल और मैं एक दूसरे के साथ शादी हो जाने के बाद ज्यादा से ज्यादा समय साथ में बिताने की कोशिश करने लगे और हम दोनों का शादीशुदा जीवन भी अच्छे से चलने लगा। हम दोनों की शादी को अभी एक महीना ही हुआ था और एक महीने हो जाने के बाद पायल और मैं कहीं घूमने का प्लान बना रहे थे लेकिन मुझे अपने ऑफिस से छुट्टी नहीं मिल पा रही थी इसलिए मैं और पायल कहीं घूमने के लिए जा नहीं पाए थे। पायल इस बात को अच्छे से समझती थी कि मुझे ऑफिस से छुट्टी नहीं मिल पा रही है इसलिए मैं उसे कहीं घुमाने के लिए लेकर नहीं जा पा रहा हूं। पायल और मेरी भी बहुत ज्यादा प्यार था मैंने भी अब ऑफिस से छुट्टी ले ली। मुझे कुछ समय बाद ऑफिस से छुट्टी मिल चुकी थी मैं और पायल साथ में घूमने के लिए शिमला जाना चाहते थे।

हम दोनों के बीच सेक्स तो हो चुका था लेकिन हम लोग शिमला जाना चाहते थे। जब हम लोग शिमला गए तो उस दिन मौसम बड़ा ही सुहावना था और मैं चाहता था मैं पायल के साथ शारीरिक सुख का मजा लूं। मैं पायल के साथ था मैं उसके बदन को महसूस कर रहा था। मैं पायल के बदन को महसूस कर रहा था तो मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लग रहा था और पायल को भी बड़ा अच्छा लग रहा था जिस प्रकार से मैं उसके बदन को सहला रहा था उसकी गर्मी बढ़ती जा रही थी और मेरे अंदर की गर्मी भी बढ चुकी थी। पायल ने कहां मैं तुम्हारे लंड को सकिंग करना चाहती हूं। मैंने पायल से कहा तुम मेरे लंड को सकिंग कर लो। पायल ने मेरे मोटे लंड को जिस प्रकार से सकिंग कर रही थी उससे मुझे बड़ा ही मजा आने लगा था और पायल को भी बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था। हम दोनों एक दूसरे के साथ बहुत ज्यादा खुश थे हम दोनों को ही बहुत मजा आ रहा था जिस प्रकार से हम लोग एक दूसरे के साथ अब सेक्स करने की कोशिश कर रहे थे। वह मेरे लंड को चूस रही थी मैं उसकी चूत को चाट रहा था। मै पूरी तरीके से गर्म हो गया था वह भी बहुत ज्यादा गरम हो चुकी थी। वह कहने लगी मैं आपके लंड को अपनी चूत मे लेना चाहती हूं। मैंने पायल की चूत पर अपने लंड को लगाकर उसकी चूत पर रगड़ना शुरू किया जब मैंने ऐसा करना शुरू किया तो पायल को मजा आने लगा।

वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा है मेरे और पायल के बीच जिस प्रकार से संबंध बन रहे थे उससे हम दोनों को मजा आ रहा था मेरा लंड पायल की चूत के अंदर बाहर हो रहा था उससे पायल को बड़ा मजा आने लगा था और वह बहुत जोर से चिल्ला कर मुझे कहती तुम मुझे ऐसे ही धक्के देते जाओ। मैंने पायल को काफी देर तक चोदा मैने उसे अपने नीचे लेटा कर चोदा लेकिन फिर मुझे लगने लगा मैं अब पायल की चूत की गर्मी को झेल नहीं पाऊंगा इसलिए मैंने उसकी चूत में अपने माल को गिराना के बाद उसकी चूत को साफ किया। मैंने पायल की योनि को साफ किया और उसके बाद पायल की चूत में लंड घुसा दिया पायल की योनि के अंदर बाहर मेरा लंड होने लगा था जिस प्रकार से मेरा लंड पायल की चूत के अंदर बाहर हो रहा था उससे मुझे मजा आने लगा था और पायल को भी बड़ा मजा आ रहा था वह मेरा साथ अच्छे से दे रही थी। मैंने पायल को अपने लंड के ऊपर बैठा लिया मैंने पायल को अपने लंड के ऊपर बैठा लिया था और वह मेरे लंड के ऊपर नीचे अपने चूतड़ों को कर रही थी। जब वह ऐसा कर रही थी तो मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था उसे भी मज़ा आ रहा था मेरे अंदर की गर्मी को उसने इतना ज्यादा बढ़ा दिया था कि मैं बिल्कुल भी रह नहीं पा रहा था। मैंने उससे कहा मुझसे बिल्कुल भी रहा नहीं जा रहा है वह मुझे कहने लगी मुझसे भी रहा नहीं जा रहा है। मैंने पायल की चूत से अपने लंड को बाहर निकाल कर उसकी चूत में लंड घुसा दिया।

पायल डॉगी स्टाइल पोजीशन में थी और उसकी चूत मे मेरा लंड जा चुका था। मुझे बड़ा मजा आ रहा था जब मैं उसे चोद रहा था। मैं और पायल एक दूसरे के साथ जमकर सेक्स का मजा ले रहे थे हम दोनों ने एक दूसरे के साथ बहुत देर तक सेक्स के मज़े लिए जैसे ही मेरा माल पायल की चूत में गिरा तो पायल खुश हो गई। वह मुझे कहने लगे मुझे आज मजा आ गया मैंने पायल को कहा मुझे भी बहुत ज्यादा मजा आ गया जिस प्रकार से मैने तुम्हारे साथ शारीरिक सुख का मजा लिया। हम दोनों ने शिमला में खूब इंजॉय किया हम दोनों ने वहां पर चुदाई का जमकर आनंद लिया। उसके बाद हम लोग वापस लौट आए थे और अब हम दोनों एक दूसरे के साथ चुदाई का जमकर मजा लेते हैं। जब भी मुझे पायल के साथ सेक्स करना होता है तो वह बड़ी खुश नजर आती है। वह मेरा साथ बहुत अच्छे से देती है मुझे पायल के साथ सेक्स करने में बहुत ही मजा आता है और उसे भी मेरे साथ सेक्स करने में बड़ा आनंद आता है।


error: