लंड कठोर हो गया


Antarvasna, hindi sex story: मुझे अपनी बिजनेस मीटिंग से दिल्ली जाना था मैं उस दिन दिल्ली फ्लाइट से ही गया मैं अहमदाबाद में रहता हूं और अहमदाबाद में मैं काफी वर्षों से अपना कारोबार संभाल रहा हूं। मैं उस दिन दिल्ली देर रात से पहुंचा और अगले दिन ही मैं अपनी बिजनेस मीटिंग कर के वापस लौट आया था। मैं जब अहमदाबाद पहुंचा तो मेरी पत्नी काफी ज्यादा परेशान थी मैंने उससे कहा कि सुधा तुम इतनी परेशान क्यो हो तो उसने मुझे बताया कि उसके बड़े भैया कुछ दिनों से घर नहीं आए हैं। हम लोगों ने भी सोचा कि हम लोगों को उनके घर जाना चाहिए और हम लोग सुधा के मम्मी पापा से मिलने के लिए चले गए। जब हम लोग उनके घर गए तो उन्होंने हमें सारी बात बताई सुधा के भैया की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी जिस वजह से वह काफी दिनों से घर नहीं लौटे थे। घर में भी सब लोग बहुत परेशान रहते हैं कि वह कई दिनों तक बिना बताए ही कहीं भी निकल जाते हैं और उनका फोन भी नहीं लग रहा था। सुधा के भैया का पहले अपना बिजनेस हुआ करता था लेकिन उनका बिज़नेस में नुकसान हो जाने के बाद उनकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी सुधा के माता-पिता बहुत ज्यादा परेशान थे।

मैंने उन्हें कहा कि कुछ नहीं होगा आप लोग बिल्कुल भी परेशान मत होइये सब कुछ ठीक हो जाएगा लेकिन वह काफी ज्यादा परेशान थे। उस दिन हम लोग उनके घर पर रुके और फिर हम लोग अगले दिन अपने घर लौट आए थे लेकिन अभी तक सुधा के भैया नहीं मिले थे सुधा  के भैया का नाम प्रदीप है प्रदीप की पत्नी भी उन्हें इसी वजह से छोड़ कर चली गई थी लेकिन कुछ दिनों बाद वह घर वापस लौट आए थे। मैं ज्यादातर अपने बिजनेस मीटिंग के सिलसिले में शहर से बाहर रहा करता था इसलिए मेरे पास समय कम होता था लेकिन फिर भी मैं कोशिश करता कि जितना हो सके उतना मैं सुधा और बच्चों को समय दूं। बच्चे भी अब बड़े होने लगे थे मैंने सुधा से कहा कि बच्चे भी बड़े होने लगे हैं मेरा बड़ा बेटा राहुल जिसकी उम्र अब 18 वर्ष की हो चुकी है और वह इस वर्ष कॉलेज में दाखिला लेना चाहता था तो मैंने उसका एडमिशन एक अच्छे कॉलेज में करवा दिया था। मेरा दोस्त माधव मुझे एक दिन मिला माधव बहुत ज्यादा परेशान था मैंने माधव की परेशानी का कारण पूछा तो माधव ने मुझे बताया कि उसे कुछ पैसों की आवश्यकता है।

मैंने उस दिन माधव की मदद की और उसे कुछ पैसे दे दिए माधव का बिज़नेस में नुकसान हो जाने के कारण उसे पैसों की आवश्यकता थी तो मैंने उसकी पैसों से मदद कर दी थी लेकिन अभी भी वह अपने नुकसान की भरपाई नहीं कर पाया था जिस वजह से वह काफी ज्यादा तनाव में रहने लगा था। मैंने माधव को कई बार समझाने की कोशिश की और कहा कि तुम अपने बिजनेस पर दोबारा ध्यान दो, माधव ने दोबारा से अपना बिजनेस शुरू कर दिया था और वह अपने काम कर पूरी तरीके से ध्यान देने लगा था अब सब कुछ ठीक होने लगा था। एक दिन माधव ने मुझसे कहा कि उसका काम अब अच्छे से चलने लगा है माधव ने मुझे मेरे पैसे भी लौटा दिए थे माधव को जब भी मेरी जरूरत होती तो मैं हमेशा उसकी मदद कर दिया करता। एक शाम माधव ने अपने घर पर पार्टी रखी थी उसने कुछ चुनिंदा लोगों को ही वहां बुलाया था मैं उस दिन माधव के घर गया मैं अपनी पत्नी सुधा को भी वहां लेकर गया था और हम लोगों ने माधव की पार्टी अटेंड की उसके बाद हम लोग अपने घर वापस आ गए। अगले दिन ही मुझे सुबह चंडीगढ़ के लिए निकलना था तो मैं अगले दिन चंडीगढ़ निकल गया तभी फ्लाइट में मेरी मुलाकात रोहन के साथ हुई जो कि चंडीगढ़ में ही रहते हैं। रोहन से बात कर के मुझे अच्छा लगा और मैंने उनसे कहा कि मैं आपसे मिलने के लिए आपके घर पर जरूर आऊंगा उन्होंने मेरा नंबर भी ले लिया था। मैं चंडीगढ़ पहुंच चुका था और चंडीगढ़ से मैं अपना काम खत्म करने के बाद वापस अपने शहर लौट आया लेकिन मेरी उस दौरान रोहन से मुलाकात नहीं हो पाई थी। रोहन ने उसके बाद मुझे फोन किया तो मैंने उनसे इस बात के लिए माफी मांगी कि मैं आपसे मिल नहीं पाया लेकिन जल्द ही मैं चंडीगढ़ आऊंगा तो आपसे जरूर मिलूंगा।

रोहन ने कहा कि आप जब भी चंडीगढ़ आएंगे तो आप मुझसे जरूर मिलिएगा और उसके काफी समय बाद मैं चंडीगढ़ गया और जब मैं चंडीगढ़ गया तो मैंने उनको फोन कर दिया था मैंने उनसे कहा कि अभी मैं अपनी मीटिंग खत्म कर के आपसे मिलने के लिए आऊंगा। मैं उनके घर उनसे मिलने के लिए गया जब मैं उनके घर पर गया तो मुझे बहुत अच्छा लगा और काफी देर बाद मैं उनके घर से वापस आया। होटल पहुंचने के बाद मेरा मन उस दिन सेक्स करने का हो रहा था काफी समय से मैंने सेक्स भी नहीं किया था। उस दिन मैंने एक कॉल गर्ल को अपने पास बुलाने का फैसला किया और मैंने कॉल गर्ल को होटल में बुला लिया। जब वह कॉल गर्ल मेरे कमरे में आई तो उसकी उम्र यही कोई 28, 30 वर्ष के बीच रही होगी लेकिन उसका फिगर बड़ा ही अच्छा था। उसका सेक्सी बदन देखकर मैं उसे चोदने के लिए बहुत ज्यादा उत्सुक था हम दोनों साथ में बैठे थे। मैंने उसे कुछ पैसे दिए अब वह मेरे बदन को सहलाने लगी थी मैंने उसके जांघ पर हाथ रखते हुए उसका नाम पूछा।

उसने मुझे कहा मेरा नाम सुमन है वह दिखने में इतनी ज्यादा सेक्सी थी कि मेरा मन कर रहा था कि उसी वक्त उसके कपड़े उतारकर उसे चोदने लगू। मैं चाहता था पूरी रात भर मैं इंजॉय करूं अब उसने मेरी पैंट की चैन को खोलते हुए मेरे लंड को अपने हाथों में लिया और उसे धीरे-धीरे हिलाना शुरू किया तो मुझे मजा आने लगा। वह जब ऐसा कर रही थी तो मेरे अंदर की आग बढ़ती ही जा रही थी उसने जब मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर उसे चूसना शुरू किया तो मुझे बहुत मजा आने लगा वह मुझे कहने लगी मुझे बड़ा आनंद आ रहा है। उसने मेरे लंड से पूरी तरीके से पानी बाहर निकाल दिया था मेरा लंड इतना ज्यादा गिला हो चुका था कि मैंने उसे कहा मैं अपने आप को रोक नही पांऊगा। मैंने उसे कहा तुम अपने कपड़े उतार दो उसने मेरे सामने अपने कपड़े उतारे उसने टाइट जींस पहनी हुई थी। जब उसने अपने कपड़े उतारे तो उसकी गुलाबी पेंटी देख मेरा लंड कठोर हो गया। उसने अपने बदन को मुझे सौंप दिया था वह बिस्तर पर लेटी हुई थी और अपने पैरों को उसने खोल लिया मैंने अब उसके स्तनों को चूसना शुरू किया। जब मैं उसके स्तनों को चूस रहा था तो उसने मुझे कहा अब आप भी अपने कपड़े उतार दो मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए और उसके स्तनों को अपने मुंह में अच्छे से लेने लगा उसके निप्पल को अपने मुंह में लेकर चूस रहा था तो मुझे एक अलग ही प्रकार का आनंद आ रहा था और मजा भी आ रहा था वह बहुत ज्यादा खुश थी और मुझे कहने लगी आप मेरी चूत को भी चाट लो। मैंने उसकी चूत पर जब जीभ को लगाया तो उसकी मुलायम चूत से पानी बाहर निकलने लगा था उसकी चूत से इतना अधिक पानी निकलने लगा था कि मैं अब रह नहीं पा रहा था। उसने कहा आप मेरी चूत मारना चाहते हैं तो मैंने उसे कहा हां मैं तुम्हारी चूत मारना चाहता हूं। उसने दोबारा से मेरे लंड को अपने मुंह मे लिया और अपने पर्स से उसने कंडोम का पैकेट निकाला और लंड पर चढा दिया मेरा लंड कठोर हो चुका था उसने लंड की कसावट और भी ज्यादा बढ़ दी थी।

मैंने उसे कहा मुझे अच्छा महसूस हो रहा है मैंने उसकी चूत के अंदर अपने लंड को डालना शुरू कर दिया मेरा लंड उसकी योनि के अंदर तक जा चुका था और मेरे अंडकोष उसकी चूत की दीवार से टकराने लगे थे जिससे कि उसे बहुत मजा आने लगा था। वह भी बहुत ज्यादा खुश हो गई थी उसने मुझे कहा आपका लंड बहुत मोटा है मेरा 9 इंच मोटा लंड उसकी चूत के अंदर तक प्रवेश हो चुका था। जब मैं अपने लंड को उसकी योनि के अंदर बाहर कर रहा था तो मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था और मुझे ऐसा महसूस हो रहा था जैसे कि मैं बस उसे चोदता ही जाऊं और उसकी इच्छा को पूरा करता जाऊं। उसने अपने पैरों को चौड़ा कर लिया था और वह मुझे किसी प्रकार की कोई कमी महसूस नहीं होने देना चाहती थी क्योंकि मैंने उसको पैसे भी दिए थे इसलिए वह अपनी पूरी कोशिश कर रही थी। मैंने उसके दोनों पैरों को आपस में मिला लिया और जब मैंने ऐसा किया तो मुझे उसकी चूत और भी ज्यादा टाइट महसूस होने लगी और मैं उसके दोनों पैरों को अपने हाथों में पकड़ कर उसे कसकर धक्के मारने लगा।

जिस कारण मुझे बहुत ही अच्छा लगने लगा था और मज़ा भी आ रहा था ऐसा ही काफी देर तक करने के बाद जब मुझे लगने लगा कि मेरे लंड से वीर्य बाहर की तरफ आने वाला है तो मैंने अपने लंड को बाहर निकाल लिया और उसे उसने हिलाना शुरू किया। जब मेरा वीर्य बाहर निकला तो मैंने उसे सुमन के स्तनों पर गिरा दिया सुमन के स्तनों पर अपने वीर्य का छिड़काव करने के बाद मेरा लंड दोबारा से तन कर खड़ा हो चुका था। अब मैंने उसे कहा तुम मेरे लंड को अपने मुंह में ले लो उसने भी मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर ले लिया और उसे चूसना शुरू किया दो। उसने मेरे लंड को चूसा तो मेरा लंड खड़ा हो चुका था उसने अपनी चूतड़ों को मेरे सामने किया तो मैंने उसकी चूत के अंदर अपने लंड को घुसा दिया मेरा लंड इतना ज्यादा कठोर हो चुका था कि वह उसकी चूत के अंदर बड़ी आसानी से जा रहा था। जब मैंने अपने वीर्य को उसकी चूत के अंदर गिराया तो वह खुश हो गई और कहने लगी आज तो मजा ही आ गया। मुझे भी बहुत ज्यादा मजा आ गया था और वह भी बहुत खुश थी। उसने मुझे पूरी रात भर संतुष्ट किया और फिर अगले दिन सुबह वह चली गई और मैं भी अपनी फ्लाइट से वापस लौट चुका था।


error: