गोरी मेम की गोरी चूत


Antarvasna, kamukta: मेरी और आकाश की दोस्ती बहुत ज्यादा पुरानी है हम दोनों कॉलेज में साथ में पढ़ा करते थे कॉलेज की पढ़ाई पूरी हो जाने के बाद मैं नौकरी करने के लिए दिल्ली आ गया। मैं जब दिल्ली आया तो दिल्ली में मैंने एक घर ले लिया बहुत जल्द ही मेरी तरक्की होने लगी थी और मेरा प्रमोशन भी अब हो चुका था। समय बीता जा रहा था मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरी शादी को 10 वर्ष हो चुके हैं और इन 10 वर्षों में मैंने काफी कुछ हासिल कर लिया था। आकाश से भी मेरी फोन पर बातें होती रहती थी आकाश भी अब इंग्लैंड में अपने परिवार के साथ रहने लगा था आकाश ने भी काफी तरक्की कर ली थी हम दोनों अपनी जिंदगी से बहुत खुश थे। एक बार हम दोनों ने मिलने का फैसला किया काफी साल हो गए थे हम लोग मिले भी नहीं थे मैंने आकाश को कहा कभी तुम मुझसे मिलने के लिए दिल्ली आ जाओ तो आकाश कहने लगा ठीक है दोस्त मैं तुमसे मिलने के लिए जरूर आऊंगा। आकाश जल्द ही मुझसे मिलने के लिए दिल्ली आ गया।

जब आकाश मुझसे मिलने के लिए दिल्ली आया तो उसके बाद हम दोनों एक दूसरे से मिले काफी सालों बाद हम दोनों एक दूसरे को मिले थे तो मैंने आकाश को देखते ही गले लगा लिया। आकाश मुझे कहने लगा कि तुमसे इतने सालों बाद मिलकर अच्छा लग रहा है तुम बिल्कुल भी बदले नहीं हो मैंने आकाश को कहा लेकिन तुम भी तो नहीं बदले हो। आकाश मुझे कहने लगा कि हां यह तो तुम बिल्कुल ठीक कह रहे हो। आकाश कुछ दिनों तक दिल्ली में ही रहने वाला था इसलिए मैंने उसे अपने घर पर रुकने के लिए कहा था। हालांकि पहले तो वह मुझे मना कर रहा था लेकिन फिर वह हमारे घर पर रुकने को तैयार हो चुका था। आकाश करीब 10 दिनों तक दिल्ली में था हम लोग अपने कुछ पुराने दोस्तों को भी मिले थे हालांकि अब सब कुछ बदल चुका था लेकिन हम दोनों की जिंदगी वैसे ही थी जैसे कि पहले थी।

कुछ दिन बाद आकाश मुझे कहने लगा कि अब मुझे वापस चलना चाहिए। आकाश जल्द ही इंग्लैंड चला गया आकाश के इंग्लैंड जाने के बाद मैं अपने काम पर जाने लगा इस बीच मैंने छुट्टी ली हुई थी लेकिन अब मैं अपने काम पर पूरी तरीके से ध्यान देने लगा था। एक दिन मेरे मामा घर पर आए हुए थे वह मुझे कहने लगे कि कमल बेटा तुम घर पर आते ही नहीं हो तो मैंने उन्हें कहा मामा जी मुझे समय नहीं मिलता है इसलिए मैं आपसे मिलने के लिए नहीं आ पाता हूं। मैं और मामा जी एक दूसरे से बात कर रहे थे तो मेरी पत्नी हमारे लिए चाय बना कर ले आई मैंने मामा जी से कहा मामा जी आज आप इतने समय बाद घर पर आए हैं घर में सब कुछ ठीक तो है ना। मामा जी कहने लगे कि बेटा अब तुम्हें क्या बताऊं मामा जी ने उस दिन मुझे पूरी बात बताई और उन्होंने अपने बिजनेस में हुए नुकसान के बारे में मुझे बताया। मैंने उन्हें कहा कि मामा जी ऐसा कभी कबार हो जाता है लेकिन आप धैर्य बनाए रखिए मामा जी कहने लगे कि बेटा मैंने तो अभी तक धैर्य बनाकर ही रखा है लेकिन मेरा काफी नुकसान हो गया है। मैं मामा जी से बात कर रहा था तो मैंने उन्हें कहा कि यदि आपको पैसों की जरूरत है तो मैं आपकी पैसों को लेकर मदद कर सकता हूं। मामा जी को वैसे भी पैसों की जरूरत थी क्योंकि उनकी बेटी की शादी जल्दी होने वाली थी इसलिए मैंने उनकी पैसों को लेकर कुछ मदद कर दी। उनकी बेटी महिमा की शादी जल्द ही होने वाली थी और मामा जी ने महिमा की शादी बड़े ही धूमधाम से करवाई। धीरे धीरे उनका काम भी ठीक चलने लगा था हालांकि जिस प्रकार से पहले उनका काम चला करता था वैसे तो उनका काम नहीं चल रहा था लेकिन फिर भी किसी तरीके से वह अपने काम को चला रहे थे। एक दिन मैं अपने ऑफिस से घर लौट रहा था तो उस दिन मुझे आकाश का फोन आया और आकाश से मैंने काफी देर तक उस दिन फोन पर बात की आकाश मुझे कहने लगा कि कमल तुम कुछ दिनों के लिए अपनी फैमिली को लेकर इंग्लैंड में आ जाओ। मैंने उसे कहा कि आकाश मैं तुम्हें इस बारे में कुछ बता नहीं सकता लेकिन फिर भी मैं इस बारे में सोचूंगा अगर मैं इंग्लैंड आ पाया तो। मैंने जब यह बात अपनी पत्नी को बताई तो वह मुझे कहने लगी कि हम लोग आकाश भाई साहब के घर कुछ दिनों के लिए चले जाते हैं इस बहाने हमारा घूमना भी हो जाएगा वैसे भी काफी समय हो गया हैं हम लोग कहीं घूमने भी नहीं गए हैं।

मैंने भी इस बारे में सोचा और मैंने आकाश को फोन किया तो आकाश कहने लगा कि तुम लोग कुछ दिनों के लिए हमारे पास ही आ जाओ। अब मैंने भी पूरा मन बना लिया था कि हम लोग कुछ दिनों के लिए इंग्लैंड चले जाएं मैंने फ्लाइट की टिकट बुक करवा दी थी और फिर हम लोगों इंग्लैंड जाने की तैयारी में थे। बच्चे बहुत ज्यादा खुश थे और मैंने भी अपने ऑफिस से कुछ दिनों की छुट्टी ले ली थी और कुछ ही दिन में हम लोग इंग्लैंड चले गए। जब हम लोग पहुंचे तो मैं पहली बार ही विदेश गया था मेरे लिए सब कुछ ही नया था और सब लोग बहुत ही खुश थे। जब हम लोग आकाश के घर पहुंचे तो आकाश का घर बहुत ही अच्छा था आकाश ने हम लोगों के लिए सारी व्यवस्था की हुई थी और हम लोगों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी ना हो इसका ध्यान आकाश की पत्नी रखती थी। आकाश ने भी कुछ दिनों के लिए अपने काम से छुट्टी ले ली थी। हम लोगों को इंग्लैंड में तीन दिन हो चुके थे हम लोग काफी जगह घूम चुके थे और सब लोग बहुत ही खुश थे। एक दिन आकाश और मैं साथ में बैठकर अपनी कुछ पुरानी यादों को ताजा कर रहे थे तो मैंने आकाश से कहा कि आकाश वह दिन कितने अच्छे थे जब हम लोग साथ में पढ़ा करते थे और कितनी शरारत किया करते थे।

आकाश कहने लगा हां दोस्त तुम बिल्कुल ठीक कह रहे हो उस वक्त की तो बात ही कुछ और थी। मैं और आकाश एक दूसरे से बात कर रहे थे आकाश ने मुझे कहा क्यों ना हम लोग कहीं घूमने के लिए चले। आकाश और मैं उस दिन घूमने के लिए चले गए आकाश ने मुझे अपने कुछ फ्रेंडों से मिलवाया जब उनसे मे मिला तो मुझे बहुत ही अच्छा लगा लेकिन जब आकाश ने मुझे अपनी एक गोरी मैम से मिलवाया तो मैं उसे चोदने के लिए तैयार था। उस दिन हम लोगों ने साथ में शराब पी वह मुझसे बहुत ही चिपक रही थी मैंने भी उसे चोदने का पूरा मन बना लिया था। मैनै जब यह बात आकाश को बताई तो आकाश कहने लगा तुम उसे होटल में ले जाओ आकाश ने मुझे अपने कार की चाबी दी और मैं उसे अपने साथ होटल में ले आया। वह जैसे मेरे साथ सेक्स करने के लिए बहुत ही ज्यादा उतावली थी जब मैं उसे अपने साथ होटल में ले आया तो अब मैं उसके बदन को महसूस करना चाहता था मैंने उसके बदन से कपड़े उतार दिए थे। मैंने उसके बदन से कपड़े उतारे तो वह पूरी तरीके से उत्तेजित होने लगी मैंने उसके गोरे स्तनों को दबाना शुरू किया मै उसके स्तनों को दबा रहा था तो मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था और वह भी बहुत ज्यादा खुश हो रही थी। उसे जैसे लंड लेने की आदत थी उसने मेरे लंड की चैन को खोला तो उसने मेरे मोटे लंड को बाहर निकाला और अपने हाथों से वह उसे हिला रही थी जैसे कि वह मेरे माल को बाहर ही निकालने वाली हो। जब उसने अपनी जीभ का स्पर्श मेरे लंड पर किया तो मुझे बड़ा ही अच्छा लगने लगा था अब मैंने अपने लंड को उसके मुंह के अंदर घुसा दिया। मैंने जब अपने लंड को उसके मुंह में घुसाया तो मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था हम दोनों सिर्फ एक दूसरे के साथ सेक्स का मजा लेना चाहते थे।

मैंने उसकी पैंटी को उतार कर उसकी चूत को चाटना शुरू किया उसकी चूत पर एक बाल नहीं था और उसकी चूत को चाटकर मुझे अलग ही मजा आ रहा है उसकी इतनी गोरी चूत थी मैने जिंदगी में ऐसी चूत देखी नहीं थी। जब मैं उसकी चूत को चाट रहा था तो मेरे अंदर की आग बढ़ती ही जा रही थी और मुझे बहुत मज़ा भी आ रहा था मैंने उसके स्तनों के बीच में अपने लंड को रगडना शुरू किया तो वह बडी खुश हो गई थी। वह जब ऐसा करती तो मेरे लंड से पानी बाहर गिरने लगा था जल्द ही मैं अपने लंड को उसकी चूत मे घुसाने वाला था मै जब अपने मोटे लंड को उसकी चूत के अंदर घुस रहा तो वह खुश हो गई मेरा लंड उसकी चूत के अंदर जाते ही वह मुझे कहने लगी मुझे मजा आने लगा है मैंने उसके दोनों पैरों को अब आपस में मिला लिया। वह जिस प्रकार की आवाज निकाल रही थी उससे मेरे अंदर एक अलग ही आग पैदा हो रही थी और मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था जब वह ऐसा करती तो मेरे अंदर की आग बढ़ती ही जा रही थी मैंने उसे अब डॉगी स्टाइल पोजीशन में बना दिया।

मुझे एहसास हो चला था कि मैं ज्यादा देर तक उसका साथ नहीं दे पाऊंगा पर जिस प्रकार से वह मेरे साथ सेक्स का मज़ा ले रही थी उससे मेरा मन हो रहा था कि बस में उसे चोदता रही और उसकी इच्छा को मैं पूरा करता जाऊं मैं उसे बड़ी तीव्र गति से चोद रहा था मैंने उसे बहुत ही अच्छे से चोदा। जब मेरे अंदर की आग पूरी तरीके से बढ़ गई तो मैंने उसकी चूत से अपने लंड को बाहर निकाल दिया जब उसकी चूत से मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो मैंने उसके मुंह को अपने सामने किया और अपने लंड को हिलाने लगा। मुझे बहुत ही अच्छा महसूस हो रहा था जैसे ही मेरे वीर्य की गरमा गरम पिचकारी बाहर की तरफ गिरी तो उसने मेरे वीर्य को अपने अंदर ही ले लिया और मुझे बहुत ही अच्छा लगा जिस प्रकार से मैंने उसके साथ सेक्स का मजा लिया। उस गोरी के साथ जिस प्रकार से मैंने मजा लिया था उससे मैं बहुत ज्यादा खुश था। अब मैं वापस लौट आया था आकाश और मैं घर लौट आए जितने दिन तक मैं इंग्लैंड में रहा उसने मुझे पूरे मजे करवाए मैं वापस अपने बच्चों को लेकर लौट चुका था लेकिन मैं बहुत खुश था।


error: