दीदी की खुशी के लिए खुद को जीजा जी के आगे दिया


hindi sex stories, kamukta

मेरा नाम कावेरी है मैं बुलंदशहर की रहने वाली हूं, मेरी उम्र 24 वर्ष है। जब मेरा कॉलेज खत्म हुआ तो उसके कुछ समय बाद मैंने एक फाइनेंस कंपनी में नौकरी ज्वाइन कर ली थी लेकिन वहां से मैंने कुछ समय बाद ही रिजाइन दे दिया और अब मैं घर पर ही रहती हूं। मेरे पिताजी पुलिस में है और वह भी बुलंदशहर में ही है। मेरी बड़ी दीदी की शादी को 5 वर्ष हो चुके हैं, वह लोग भी बुलंदशहर में ही रहते हैं लेकिन मेरी दीदी घर पर अब काफी कम आती है, जब मैं अपनी दीदी को फोन करती हूं तो वह कहती है कि मैं घर के कामों से ही फ्री नहीं हो पाती इस वजह से मैं पापा मम्मी और तुमसे मिलने के लिए नहीं आ पाती, मैं कई बार अपने पति से भी कहती हूं लेकिन वह आते ही नहीं हैं क्योंकि उन्हें भी छुट्टी नहीं मिल पाती। मैंने उन्हें कहा कि आप लोग एक बार तो आ जाइए, आपको काफी समय हो चुका है घर आये हुए, मेरी दीदी कहने लगी ठीक है मैं देखती हूं, एक बार उनसे इस बारे में बात कर लेती हूं यदि वह हामी भर देते हैं तो हम लोग इसी हफ्ते तुमसे मिलने के लिए आ जाएंगे।

जब यह बात दीदी ने कही तो मैंने पापा से भी इस बारे में बात की, वह कहने लगे तुमने यह अच्छा किया कि तुमने काजल से बात कर ली क्योंकि उसे भी काफी समय हो चुका है वह भी घर नहीं आई है। मैंने कुछ दिनों बाद ही दीदी को फोन किया तो वह कहने लगी कि मेरा आना संभव नहीं हो पाएगा, मेरा मूड थोड़ा खराब हो गया और मैंने उन्हें धीमी आवाज में कहा कि चलो कोई बात नहीं यदि आप लोग नहीं आ सकते तो यह आपकी समस्याएं होंगी। मैंने उस दिन फोन रख दिया लेकिन अगले दिन ही मेरी दीदी ने मुझे फोन किया और कहने लगी कि एक काम करो तुम ही हमारे पास कुछ दिनों के लिए आ जाओ, मैंने उसे कहा कि मैं वहां आकर क्या करूंगी, वहां तो मेरे साथ का कोई भी नहीं है। दीदी कहने लगी कि मैं भी तो तुम्हारे साथ की हूं, क्या तुम मेरे साथ कुछ समय नहीं बिता सकती, मैंने उन्हें कहा कि आने को तो मैं आ जाऊं लेकिन घर में मम्मी अकेली हो जाएंगी, वह कहने लगी एक बार पापा मम्मी से पूछ लेना उसके बाद ही तुम आना।

मैंने दीदी से कहा ठीक है मैं इस बारे में पापा से पूछ लूंगी, वह मुझे आने के लिए कह देंगे तो मैं आपके पास कुछ दिनों के लिए आ जाऊंगी, मुझे भी आपसे मिलने का काफी मन है। जब मैंने इस बारे में अपनी मम्मी से बात की तो मेरी मम्मी कहने लगी तुम ही कुछ दिनों के लिए काजल के घर हो आओ क्योंकि वह काफी समय से आई नहीं है और जब से उसकी शादी हुई है तबसे वह कम ही आती है। मेरी मम्मी ने मेरे पापा से भी इस बारे में बात कर ली और अगले दिन मुझे मेरे पापा ने दीदी के घर छोड़ दिया। जब मैं दीदी के घर गई तो वह मुझसे मिलकर बहुत खुश हुई, उनकी सास भी बाहर बरामदे में बैठी हुई थी, वह मुझे देख कर कहने लगी तुम काफी समय बाद हमारे घर आ रही हो, मैंने उन्हें कहा कि दीदी तो अब घर आती ही नहीं है तो मैंने सोचा मैं ही दीदी से मिल आती हूं। दीदी की सास भी हंसने लगी और हंसते हंसते ही उन्होंने कहा कि घर में काम ज्यादा रहता है इस वजह से वह नहीं आ पाती, सुबह रोहित के लिए नाश्ता बनाना होता है क्योंकि उसे ऑफिस जल्दी जाना पड़ता है और दिन में तो घर के अन्य काम होते हैं। मैं भी उन्हीं के पास बैठ गई और मेरी दीदी भी वही थी, हम तीनों ही बैठ कर बात कर रहे थे और मैं काफी देर तक दीदी की सास के साथ बैठी हुई थी। थोड़ी देर बाद दीदी मुझे अपने बेडरूम में ले गई तो उन्होंने मुझे कहा की मैंने कुछ दिन पहले ही शॉपिंग की थी लेकिन मैंने एक रेडीमेड सूट लिया, वह मुझे फिट नहीं आ रहा तो वह तुम ही रख लो, शायद वह तुम पर आ जाएगा। जब उन्होंने अपनी अलमारी से अपने शॉपिंग किए हुए कपड़े निकाले तो मैं भी दीदी के साथ ही बैठकर देख रही थी, दीदी कहने लगी घर में सब लोग ठीक है, मैंने उन्हें कहा आप तो घर पर आती ही नहीं है, मम्मी  आपको बहुत ही मिस करती हैं और पापा भी आपको बहुत मिस करते हैं, वह लोग आपकी हमेशा ही घर पर बात करते रहते हैं। जब यह बात मैंने दीदी से कहीं तो दीदी कहने लगी चाहती तो मैं भी हूं लेकिन मेरा आना संभव नहीं हो पाता, मैंने उनसे पूछा कि क्या कोई परेशानी की बात है, वह कहने लगी नहीं कोई भी परेशानी की बात नहीं है और यह कहते हुए उनकी आंखों से आंसू निकलने लगे।

मैं समझ नहीं पा रही थी कि वह इतना भावुक क्यो हो गयी। जब उन्होंने मुझे मेरे जीजा के बारे में बताया तो मैं सुनकर दंग रह गई, उन्होंने मुझे कहा कि उनका अफेयर किसी लड़की के साथ चल रहा है और वह यहीं पड़ोस में रहती हैं। मैंने दीदी से कहा कि मैं तो उन्हें बहुत ही सीधा और अच्छा इंसान समझती थी लेकिन वह इस प्रकार के हैं, मेरी दीदी कहने लगी कि पता नहीं उन्हें अब क्या हो गया है वह बिल्कुल बदल चुके हैं और पहले जैसे बिल्कुल भी नहीं रहे इसीलिए मैं भी उनके साथ ज्यादा बात नहीं करती। हम दोनों बहने बैठ कर बात कर रही थी उसी वक्त मेरे जीजा रोहित भी वहां पर आ गए, उनके चेहरे पर हल्की सी मुस्कान थी और उन्होंने मुझे पूछा तुम कब आई, मैंने कहा मुझे आए हुए तो काफी समय हो चुका है। वह फ्रेश होने के लिए बाथरूम में चले गए और मैं भी ज्यादा देर तक वहां नहीं रुकी। दीदी ने मुझे कहा कि तुम गेस्ट रूम में चलो फिर मैं गेस्ट रुम में चली गई। मै गेस्ट रूम में बैठी हुई थी थोड़ी देर बाद ही मेरे जीजा रोहित आ गए, मैं अकेली बैठी हुई थी।

वह मुझसे पूछने लगे तुम अकेले क्यों बैठी हो वह मेरे पास ही आकर बैठ गए। वह मुझसे पूछने लगे तुम आजकल क्या कर रही हो। मैंने उन्हें कहा मैं घर पर ही हूं। वह मेरे पास ही बैठे थे तो मैंने भी उनसे पूछ लिया क्या आपके और दीदी के रिश्ते में खटास आ चुकी है। वह कहने लगे हम दोनों की बिल्कुल भी नहीं बनती। यह बात उन्होंने मुझसे कहीं तो मुझे बहुत बुरा लगा, उन्होंने मेरी जांघ पर हाथ रख दिया और कहने लगे तुम्हारी दीदी के साथ में बिल्कुल भी खुश नहीं हू वह मुझे सेक्स को लेकर संतुष्ट नहीं कर पाती। वह मेरी जांघ को दबा रहे थे  उन्होंने मेरे स्तनों पर भी अपने हाथ को रख दिया मेरी चूत से पानी निकलने लगा। जब मेरे जीजाजी ने अपने लंड को निकाला तो वह मैने अपने मुंह में ले कर सकिंग किया मेरी योनि पूरी गिली हो चुकी थी। उन्होंने मेरी सलवार को उतारते हुए मेरी मुलायम योनि के अंदर अपने लंड को डाल दिया, जब उनका कड़क लंड मेरी मुलायम योनि के अंदर प्रवेश हुआ तो मैं चिल्लाने लगी, मेरी योनि से खून बाहर की तरफ निकलने लगा। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था मैंने अपने दोनों पैरों को चौड़ा कर लिया और उन्होंने मुझे बडी तेज गति से चोदना शुरू कर दिया। वह मुझे कहने लगे तुम्हारे साथ सेक्स का आनंद आ रहा है तुम्हारी दीदी अब मुझे बिल्कुल भी हाथ नहीं लगाने देती। मैंने भी जीजा जी का पूरा साथ देना शुरू कर दिया और वह बड़ी तेज गति से मुझे धक्के मार रहे थे। वह जिस प्रकार से मुझे झटके मार रहे थे मेरी चूत से खून बड़ी तेजी से निकल रहा था। कुछ मिनटों बाद उन्होंने जब मुझे अपने ऊपर आने को कहा तो मैंने जैसे ही उनके लंड को अपनी योनि के अंदर लिया तो मुझे बहुत ज्यादा दर्द होने लगा लेकिन मैं भी उनसे अपनी चूतडो को मिलाने लगी। वह बड़ी तेजी से मुझे झटके दे रहे थे, मेरे जीजा मेरे स्तनों का भी रसपान कर रहे थे। मेरी योनि से इतना  ज्यादा पानी निकलने लगा, मैं बिल्कुल भी नहीं झेल पा रही थी मै झड गई। उसके बाद उन्होंने मुझे काफी देर तक ऐसे चोदा  जब उनका वीर्य गिर गया तो उन्होंने कहा कावेरी आई लव यू तुमने मेरे सेक्स की भूख को पूरा कर दिया। मैंने उनसे कहा कि एक शर्त मै आपके साथ सेक्स करूगी आप मेरी दीदी को कुछ भी नहीं कहेंगे और आप उन्हें खुश रखेंगे। वह कहने लगे ठीक है मैं आज के बाद कभी भी तुम्हारी दीदी को तकलीफ नहीं दूंगा।


error: