चूतडो से निकलती आवाज


Antarvasna, hindi sex story: मुझे अपना नया ऑफिस जॉइन करे हुए कुछ समय ही हुआ था मैंने वहां पर एक महीने पहले ही ज्वाइन किया था। जब मैंने नया ऑफिस ज्वाइन किया तो वहां पर मेरे और मुकेश के बीच बहुत अच्छी दोस्ती हो गई। एक दिन मुकेश ने मुझे अपने घर पर भी इनवाइट किया क्योंकि उसके बेटे का बर्थडे था इसलिए मैं भी उस दिन उसके घर पर गया था उसने मुझे अपने परिवार से मिलवाया। मुझे मुकेश का परिवार बहुत अच्छा लगा वह लोग बहुत ही अच्छे हैं और सब लोग बहुत ही खुश रहते हैं मुकेश को भी मैंने अपना घर पर कई बार बुलाया और वह भी मेरे परिवार से मिला। मेरे पापा मम्मी जॉब करते हैं उन्होंने मुझे कभी बचपन से समय ही नहीं दिया था इसलिए मैं हमेशा ही अलग रहा लेकिन जब मैं मुकेश को मिला तो मुझे ऐसा लगा कि मुकेश अपनी जिंदगी में कितना खुश है उसका परिवार उसका कितना सपोर्ट करता है लेकिन मेरे पापा मम्मी से मुझे कभी वह सपोर्ट मिला ही नहीं।

मैं अपनी जॉब में बिजी तो रहता था लेकिन मुझे हमेशा ही यह लगता कि काश कभी मेरे पापा मम्मी भी मेरे साथ समय बिता पाते। उन्होंने मुझसे बढ़कर अपनी नौकरी को ही तवज्जो दी मेरी जिंदगी पूरी तरीके से अकेली ही कट रही थी लेकिन अब मुझे मुकेश के रूप में एक अच्छा दोस्त मिल चुका था। जब मुझे मुकेश ने अपने मामा जी की लड़की से मिलवाया तो उससे मिलकर मुझे अच्छा लगा उसका नाम पायल है। पायल का कुछ समय पहले ही डिवोर्स हुआ था और उसकी शादी को सिर्फ 6 महीने ही हुए थे लेकिन उसके ससुराल पक्ष की तरफ से दहेज की मांग की वजह से उसने डिवोर्स ले लिया। मैंने पायल से कहा कि पायल तुम्हे तुम्हारे परिवार वालों ने इस बारे में नहीं कहा तो पायल कहने लगी कि वह लोग तो मुझे अभी भी कहते हैं लेकिन मैं वहां पर नहीं रह पा रही थी मेरा अपने ससुराल में दम घुट रहा था इसलिए मैंने डिवोर्स लेना ही बेहतर समझा। मैंने पायल को कहा पायल तुमने आगे कुछ सोचा है तो पायल ने मुझे कहा कि अभी तो मैंने इस बारे में कुछ सोचा नहीं है।

पायल के साथ मेरी अच्छी बातचीत होने लगी थी पायल और मैं एक दूसरे को मिलने लगे थे और अब हम दोनों एक दूसरे को डेट भी करने लगे थे। मुझे पायल का साथ अच्छा लगने लगा था और कहीं ना कहीं पायल भी मेरे साथ बहुत खुश थी। यह बात मुकेश को भी पता चल चुकी थी मुकेश ने मुझे कहा कि रोहन क्या तुम पायल से प्यार करने लगे हो तो मैंने उसे बताया कि हां मैं पायल से प्यार करने लगा हूं। मुकेश ने मुझे कहा कि क्या तुम उससे शादी कर पाओगे तो मैंने उसे कहा कि क्यों नहीं मैं पायल से शादी करने के लिए तैयार हूं और मुझे नहीं लगता कि पायल में किसी भी प्रकार की कोई कमी है वह बहुत ही अच्छी लड़की है और बहुत समझदार भी है। मुकेश ने मुझे कहा कि यह सब इतना आसान भी नहीं है तुम्हारे परिवार वाले कभी भी पायल से तुम्हारी शादी के लिए तैयार नहीं होंगे। मैंने मुकेश को कहा मैं पायल से प्यार करता हूं और मैं पायल के साथ ही अपनी जिंदगी बिताना चाहता हूं तो मुकेश मुझे कहने लगा कि तुम्हें इस बारे में अपने पापा और मम्मी से बात करनी चाहिए। मैंने जब उनसे बात की तो मुझे पता नहीं था कि वह लोग इस बात के लिए मानने वाले नहीं हैं लेकिन पापा और मम्मी ने कभी मेरा भी तो ख्याल नहीं रखा था, उन्होंने हमेशा ही अपनी नौकरी को तवज्जो दी इसलिए मैंने भी अब अलग रहने का फैसला कर लिया था। मैं अलग रहने लगा था लेकिन कुछ दिनों बाद ही पापा और मम्मी को मेरे पास आना पड़ा और उन्होंने मेरी बात भी मान ली वह मेरी शादी पायल से करवाने के लिए मान चुके थे। पायल के परिवार को इससे कोई एतराज नहीं था पायल और मेरी शादी के लिए अब सब लोग तैयार हो चुके थे। मैं बहुत ही ज्यादा खुश था कि मुझे पायल के रूप में एक अच्छी पत्नी मिलने वाली थी क्योंकि पायल के साथ मेरी बहुत अच्छी बनती थी और हम दोनों के हालात एक जैसे ही थे। पायल और मैं ज्यादा से ज्यादा एक दूसरे के साथ समय बिताते और हम दोनों एक दूसरे का बहुत ही ख्याल रखते अब हम दोनों की शादी होने वाली थी।

हम दोनों ने कोर्ट मैरिज की और उसके बाद हम दोनों पति-पत्नी बन चुके थे सब लोग बहुत ही खुश थे हालांकि मेरे पापा और मम्मी अभी भी इस बात से खुश नहीं थे लेकिन मुझे उनसे कोई फर्क नहीं पड़ता था मेरी जिंदगी में पायल आ चुकी थी और पायल ही मेरे लिए सब कुछ थी। पायल उस अकेलेपन को दूर करने के लिए मेरे जीवन में आ चुकी थी और सब कुछ मेरे जीवन में अच्छा होने लगा था पायल मेरा बहुत ही ध्यान रखती है। मेरे पापा मम्मी को भी अब एहसास होने लगा था कि मैंने पायल से शादी कर के कोई गलत नहीं की है इसलिए वह लोग भी अब पायल को प्यार करने लगे थे और पायल को वह लोग भी काफी पसंद करने लगे थे। घर का माहौल पायल के आने से पूरी तरीके से बदल चुका था और घर में अब काफी खुशियां आ चुकी थी। पापा और मम्मी भी हम लोगों के साथ अब समय बिताने लगे थे। पापा मम्मी अब काफी खुश थे मैं जब भी अपने ऑफिस से लौटता तो पायल मेरा घर पर इंतजार कर रही होती थी एक दिन पायल और मैं साथ में बैठे हुए थे उस दिन मौसम काफी ज्यादा सुहावना था पायल और मैं लेट चुके थे पायल को मैंने कस कर पकड़ लिया। जब मैंने पायल को पकड़ा तो पायल की चूतडे मेरे लंड से टकराने लगी तो मुझे मजा आ रहा था और उसे भी बड़ा आनंद आ रहा था मैंने भी पायल से कहा मैं तुम्हारी चूत मारना चाहता हूं।

पायल भी बहुत ही ज्यादा उत्तेजित हो गई थी उसने मेरे लंड को अपने हाथों में ले लिया और उसे हिलाना शुरू किया जब उसने ऐसा किया तो मैं बहुत ही ज्यादा खुश था जैसे ही उसके अंदर गर्मी बढने लगी तो मैंने उसे कहा मुझे तो मजा ही आ गया और वह बहुत ज्यादा खुश हो गई थी। वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है अब मैंने भी उसके मुंह के अंदर अपने लंड को घुसा दिया था जब मेरा मोटा लंड उसके मुंह के अंदर गया तो वह बड़े अच्छे से मेरे लंड को सकिंग कर रही थी और उसे मेरे लंड को चूसने में बहुत आनंद आ रहा था काफी देर तक ऐसा ही चलता रहा लेकिन जब मैंने उसके पैरों को खोलकर उसकी चूत को चाटना शुरू किया तो मुझे मजा आने लगा अब वह भी मचलने लगी थी पायल की चूत से बहुत अधिक मात्रा में पानी निकलने लगा था। अब मैने काफी देर तक उसकी चूत पर अपने लंड को अच्छे से रगडा जब मैं ऐसा कर रहा था तो मेरे लंड पर पायल की चूत का पानी लग रहा था और पायल कहने लगी अब मैं रह नहीं पाऊंगी तुम जल्दी से मेरी प्यास बुझा दो। मैंने उसे कहा बस मैं तुम्हारी इच्छा अभी पूरी कर देता हूं और यह कहते ही मैंने उसकी चूत पर अपने लंड को धीरे से घुसाया हम दोनों की गर्मी इतनी अधिक हो चुकी थी कि मैंने एक जोरदार झटके के साथ पायल के अंदर लंड घुसा दिया उसकी योनि के अंदर लंड घुसा तो वह जोर से चिल्लाई और मुझे कहने लगी तुमने मेरी चूत फाड़ दी है मेरा लंड उसकी चूत के अंदर तक जा चुका था। मैंने कुछ देर तक पायल के स्तनों को अपने मुंह में लेकर उनका रसपान किया तो वह बहुत ज्यादा खुश हो गई थी और मुझे कहने लगी तुम ऐसे ही मेरे स्तनों का रसपान करते रहो। मैं उसके सुडौल स्तनों को चूस रहा था जब मैं उसके निपल्स को चूस कर उसके स्तनों को बड़े अच्छे से चूसता तो मुझे मजा आता अब मैंने उसकी चूत के अंदर अपने लंड को बड़ी तेज गति से अंदर बाहर करना शुरू कर दिया था जिस से कि उसके अंदर की उत्तेजना बढ़ती ही जा रही थी और मुझे बहुत मजा आने लगा था।

मैंने उसे कहा मुझे बहुत ही मजा आ रहा है और वह भी बहुत ज्यादा खुश हो गई थी मैंने अब उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख लिया था जब मैंने उसके पैरों को अपने कंधों पर रखा तो मुझे बहुत अच्छा लगने लगा था और उसे भी बड़ा अच्छा लग रहा था मैं उसे लगातार तीव्रता से चोदे जा रहा था और जिस तेज गति से मैं उसे धक्के मार रहा था उसे उसकी सिसकारियां बढ़ती ही जा रही थी और वह मुझे कहने लगी कि तुम मुझे और भी तेजी से चोदो मेरी चूत आज फाड़ कर रख दो। पायल ने मुझे कभी भी किसी चीज की कोई कमी महसूस नहीं होने दी और सेक्स में भी वह मुझे कभी कोई कमी महसूस नहीं होने देती लेकिन अब पायल की चूत से जो आग बाहर निकल रही थी उसे रोक पाना मुश्किल था और मैंने भी उसकी योनि के अंदर अपने वीर्य को गिरा कर उसकी इच्छा को पूरा कर दिया लेकिन मेरा मन उसे दोबारा से चोदने का होने लगा और कुछ देर तक हम दोनों साथ में लेटे रहे।

पायल मेरे लंड को अपने हाथों से सहला रही थी लेकिन जब उसने मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर लिया तो मुझे अच्छा लगने लगा और मुझे यह भी महसूस होने लगा था कि मेरा लंड दोबारा से खड़ा हो चुका है मेरा लंड तन कर खड़ा हो चुका था और मैंने पायल से कहां कि तुम मेरे ऊपर से आ जाओ। पायल मेरे ऊपर से लेट गई मैंने भी अपने लंड को उसकी चूत के अंदर धीरे-धीरे घुसा दिया मेरा लंड उसकी चूत के अंदर तक चला गया जब मेरा लंड उसकी चूत की दीवार से टकराने लगा तो वह बहुत उत्तेजित होने लगी और अपनी चूतडो को बड़े अच्छे से ऊपर नीचे करने लगी वह ऐसा कर रही थी तो मुझे बड़ा मजा आ रहा था और वह भी बहुत ज्यादा खुश हो रही थी। उसने काफी देर तक अपनी बडी चूतडो को ऊपर नीचे किया मुझे एहसास होने लगा कि मेरा वीर्य पतन होने वाला है तो मैंने अपने माल को उसकी चूत के अंदर गिरा दिया और पायल ने मेरी इच्छा को अच्छे से पूरा कर दिया था।


error: