बिपाशा भाभी का मायाजाल


bhabhi sex stories, antarvasna

मेरा जीवन बड़ा ही अच्छे से चल रहा था जब तक मेरे जीवन में बिपाशा भाभी नहीं आई थी लेकिन जब से वह मेरी जिंदगी में आई है उस वक्त से तो मेरे जीवन में जैसे भूचाल सा हो गया हो और मैं बहुत ही दुविधा में फंस सा गया मुझे समझ नही आ रहा था कि मुझे क्या करना चाहिए, पर मैंने बिपाशा भाभी को भी अब अपना लिया है और मेरी सगाई भी हो चुकी है। मैं दोनों हिस्सों की कशमकश में फंसा हुआ हूं मेरी जिस लड़की से सगाई हुई है उससे भी मेरी बात होती है और बिपाशा भाभी तो मुझसे लगातार बात करती रहती है यह मेरी गलती का नतीजा है कि मुझे अब दोनों नाव पर सवार होकर चलना पड़ रहा है यदि मैं पहले ही अपने आपको बिपाशा भाभी से अलग कर लेता तो शायद आज मुझे यह दिन नहीं देखना पड़ता, मेरे जीवन में यह एक तनाव की स्थिति पैदा करने जैसा है।

मेरी मुलाकात बिपाशा भाभी से उस वक्त हुई जब मैं अपनी एक फ्रेंड से मिला, वह मेरी कॉलेज की फ्रेंड थी और उनके साथ में बिपाशा भाभी भी थी वह उसकी भाभी थी, मेरी फ्रेंड का नाम तानिया है लेकिन मुझे नहीं पता था कि बिपाशा भाभी को मैं इतना ज्यादा पसंद आ जाऊंगा कि वह मेरी तरफ पूरी तरीके से अट्रैक्ट हो जाएंगे। एक दिन मुझे तानिया ने अपने घर पर बुला लिया उसे कुछ काम था, मैं जब उसके घर पर गया तो मैंने उस दिन उसके भैया से भी मुलाकात की उसके भैया से मैं पहली बार ही मिला था और जैसे मेरी किस्मत में लिखा था कि मैं सिर्फ समस्याएं ही मोल लूंगा, उसके भैया मुझसे मिले और कहने लगे अच्छा तो तुम्हारा ही नाम अंकुश है, तानिया तुम्हारी काफी बात करती है और मैंने सोचा कि क्यों ना आज तुमसे मिल लिया जाए। मैंने उसके भैया से कहा तो फिर क्या आपने मुझे अपने घर पर मिलने के लिए बुलाया है? वह कहने लगे हां मैंने ही तुम्हें अपने घर पर बुलाया है, मैंने ही तानिया से कहा था कि तुम मुझे तुम अंकुश से मिलवा दो।

मेरी तो कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था। जैसे ही उसके भैया ने मुझे कहा कि मैं तानिया की शादी तुमसे करवाना चाहता हूं तो मैं एकदम से तानिया के चेहरे पर देखने लगा, मुझे तो कुछ भी पता नहीं चल रहा था कि यह हो क्या रहा है, तानिया के भैया ने मुझसे तानिया की रिश्ते की बात कर ली, मैंने कभी भी तानिया के बारे में ऐसा नहीं सोचा था हालांकि वह हमारे कॉलेज की सबसे अच्छी लड़की थी पर मैंने कभी भी उसके बारे में यह बात नहीं सोची थी लेकिन जब उसने मुझे बताया कि मैं कॉलेज के बाद से ही तुम्हें पसंद करती हूं तो मैंने भी उसके भैया को कहा ठीक है भैया मैं अपने घर में इस बारे में बात करता हूं, वह कहने लगे कि हम लोग तुम्हारे घर पर आ जाएंगे। अब वह लोग मेरे घर पर आ गए और उन्होंने मेरे माता-पिता से बात की, उन्हें तानिया बहुत पसंद आई और कुछ ही समय बाद मेरी सगाई भी हो गई, जब मेरी सगाई हो गई तो मुझे यह बात समझ में नहीं आई कि आखिरकार यह सब इतनी जल्दी में हुआ कैसे? मैं एक दिन तानिया के साथ बैठा हुआ था और तानिया मुझे कहने लगी तुम थोड़ी देर यहीं बैठ जाओ मैं अभी अपने कपड़े लेकर आती हूं, उसने अपने कपड़े सिलवाने के लिए दर्जी को दिए हुए थे और जब वह गई तो उसकी भाभी मेरे पास आकर बैठ गई, जब विपाशा भाभी मेरे पास आकर बैठी तो उनके चेहरे पर एक अलग ही मुस्कान थी और वह मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी, मैंने उन्हें कहा भाभी आप कुछ ज्यादा ही मुस्कुरा रही हैं, वह मुझे कहने लगी अब तो तुम खुश होंगे, मैंने उन्हें कहा कि मैं तो पहले से ही खुश था, उन्होंने मुझे सारी बात बताई और कहा कि मैंने हीं तानिया का रिश्ता तुमसे करवाने के लिए कहा था। जब उन्होंने यह बात कही तो मैं उनके चेहरे पर एक टक नजरों से देखने लगा, मैं समझ गया कि यह कुछ ज्यादा ही शातिर महिला है और उन्होंने अपने फायदे के लिए मेरा रिश्ता तानिया से करवाने की सोच ली, तानिया के भैया बहुत ही सीधे हैं और उन्हें इस बात की बिल्कुल भी भनक नहीं लगी।

उस दिन मुझे भी विपाशा भाभी ने कहा कि मैं तुम्हें पहली नजर में ही देखकर पसंद करने लगी और मैं नहीं चाहती कि अब मैं तुमसे एक पल भी दूर रहूं, जब उन्होंने मुझे यह बात कही तो मैंने उनसे कहा क्या यह उचित है, आप इस तरीके से मुझसे बात कर रही हैं और मेरी कुछ दिनों में तानिया के साथ शादी हो जाएगी मैं उसे क्या जवाब दूंगा, वह कहने लगी इसमें जवाब देने वाली क्या बात है मैं तुमसे प्रेम करती हूं और तुम मुझे अच्छे लगे और तानिया के साथ तुम्हारी शादी भी तो हो रही है, तानिया भी तो अच्छी लड़की है, मैंने उन्हें कहा की तानिया को तो मैं पहले से ही जानता हूं लेकिन मुझे आपके बारे में अंदाजा नहीं था कि आप इतनी ज्यादा शातिर महिला होंगे, मैंने कभी इस बारे में सोचा भी नहीं था मैं तो आपकी बड़ी ही इज्जत करता हूं। वह मुझसे चिपक कर बैठने लगी, मैं उनसे अपने आपको दूर करने लगा लेकिन उन्होंने मेरे लंड को कसकर पकड़ लिया। जब उन्होंने मेरे पैंट की चैन को खोलते हुए मेरे लंड को बाहर निकाला तो वह मेरे लंड को हिलाने लगी और हिलाते हुए उन्होंने अपने मुंह के अंदर मेरे लंड को ले लिया। मुझे यह सब अच्छा लग रहा था, मैं अपने आप पर काबू नहीं कर पाया जैसे ही उन्होंने अपने बदन से अपने कपड़ों को उतारना शुरू किया तो मेरे अंदर का जानवर जागने लगा। मैं भी अपने आप पर बिल्कुल भी काबू नहीं रख पाया मैंने भी बिपाशा भाभी के बदन की खुशबू को सुंघ लिया जैसे मैं उनके पूरे बस में हो चुका था।

वह मुझे अपने साथ बेडरूम में ले गई, मैंने उनके बदन का रसपान बहुत अच्छे से किया। जब वह पूरे तरीके से उत्तेजित हो गई तो उन्होंने मुझे कहा अब तुम मेरी प्यास को बुझा दो। उन्होंने मुझसे यह बात कही तो मैंने भी अपने लंड को उनकी योनि के अंदर डाल दिया। जैसे ही मेरा लंड उनकी योनि की गहराइयों में घुसा तो वह अपने मुंह से सिसकियां लेने लगी। उन्होंने मेरा साथ इतने अच्छे से दिया मैं अपने आपको बिल्कुल भी नहीं रोक पाया और उन्हें बड़ी तेज गति से मैं धक्के देने लगा। जैसे ही मैं उन्हें देता वह भी अपने दोनों पैरों को खोल लेती। उनकी बड़ी जांघो को मैंने अपने हाथों में पकड़ लिया और तेजी से मैंने उन्हें चोदना शुरू कर दिया। मैंने जब उन्हे उल्टा लेटाया तो उनकी बड़ी गांड देखकर मैं अपने आपको ना रोक पाया। मैंने उनकी गांड के अंदर अपने लंड को डाल दिया जैसे ही उनकी गांड में मेरा लंड घुसा तो मेरे अंदर की आग और भी बढ़ने लगा। मैंने भी बड़ी तेज गति से उन्हे धक्के देना शुरू कर दिया मैंने इतनी तेज गति से उन्हे चोदा उनकी गांड से चिपचिपा पदार्थ बाहर को निकलने लगा मै उनकी गांड सिर्फ 2 मिनट तक मार पाया, मेरा वीर्य उनकी गांड के अंदर गिरा तो वह मुझे कहने लगी आज तो तुमने मेरी इच्छा पूरी कर दी। उस दिन के बाद से वह अपनी इच्छा हमेशा ही मुझ से पूरी करवाने लगी मैंने उन्हें मना भी किया लेकिन वह मुझे धमकी देती और कहती यदि तुमने मेरे साथ सेक्स नहीं किया तो मैं तानिया को तुम्हारे बारे में बता दूंगी। मैं इस डर से उनके साथ रहने लगा और उनके साथ भी मैं फोन पर बात किया करता लेकिन मैं अंदर ही अंदर से बहुत ही घुट रहा हूं। यह बात किसी को भी नहीं बता सकता बिपाशा भाभी तो हमेशा मुझसे अपनी इच्छा पूरी करवा लेती हैं परंतु अब मैं नहीं चाहता कि मैं उनके साथ सेक्स के मजे लूं। मैं तान्या के साथ अपने नए जीवन की शुरुआत करना चाहता हूं। एक दिन मैंने बिपाशा भाभी से इस बारे में बात की तो वह कहने लगी यह तो सिर्फ शारीरिक इच्छाए है यदि मेरी इच्छा तुम पूरी कर रहे हो तो इससे मुझे अच्छा लगता है, मैं तुम्हारे साथ अपने आपको बहुत खुश महसूस करती हूं। वह कहने लगी तानिया के साथ भी तुम सेक्स कर लो मुझे उसमें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन तुम मेरी भी इच्छा पूरी कर दिया करो। उनकी बड़ी गांड अब और भी बड़ी होती जा रही है उनकी गांड के अंदर मै अपने माल को कई बार भर चुका हूं लेकिन उसके बावजूद भी उन्हें मेरा लंड इतना पसंद आया कि वह मेरे लिए पागल हो जाती हैं।


error: