मनीषा की चूत फतह की

Antarvasna, sex stories in hindi: दीपक को मैंने घर बुला लिया था दीपक की तबीयत ठीक नहीं थी इसलिए मैंने उसे घर आने के लिए कहा वह उस दिन घर आ गया था। मेरा छोटा भाई जो की दिल्ली में नौकरी करता था उसकी तबीयत ठीक नहीं थी इसलिए मैंने उसे कहा कि तुम घर…


मेरा लंड शनाया की चूत के अंदर

Antarvasna, hindi sex story: हर रोज की तरह जब मैं शाम के वक्त अपने ऑफिस से घर लौट रहा था तो उस वक्त मुझे शनाया दिखी। शनाया जो कि हमारी कॉलोनी में ही रहती है शनाया से मैं बहुत प्यार करता हूं लेकिन उससे मैं कभी अपने प्यार का इजहार कर नहीं पाया था। शनाया…


बिपाशा की चूत में लंड दिया

Antarvasna, kamukta: मुझे दिल्ली जाने के लिए देर हो रही थी मैंने मां से कहा कि मां जल्दी तैयार हो जाइए तो मां कहने लगी बस बेटा थोड़ी देर में तैयार हो जाती हूं। मुझे अपनी मीटिंग के सिलसिले से दिल्ली जाना था और मां ने मुझे कहा कि मैं भी तुम्हारे साथ दिल्ली चलती…


माधुरी की चूत को चाटा

Antarvasna, hindi sex stories: पापा के बिजनेस को मैं संभालने लगा था जिससे कि पापा काफी खुश थे लेकिन मेरी जिंदगी पूरी तरीके से बदलने लगी थी। मेरे पास बिल्कुल भी समय नहीं होता था और मैं अपने दोस्तों से भी नहीं मिल पाता था। मैं अपनी जिंदगी में काफी बिजी रहने लगा था इसलिए…


मेरी गर्मी संगीता की चूत के अंदर

Antarvasna, desi sex kahani: कॉलेज खत्म हो जाने के बाद मैं दुकान में चला गया। पापा की तबीयत ठीक नहीं थी तो उन्होंने मुझे कहा कि बेटा तुम आज दुकान का काम संभाल लो। पापा को मैंने घर जाने के लिए कहा तो वह घर चले गए थे और मैं दुकान पर ही था। रात…


पारुल को चुदाई का मजा दिया

Antarvasna, hindi sex story: मेरा दोस्त रजत और उसकी पत्नी प्रिया चाहते थे कि हम लोग उनके घर पर डिनर के लिए जाएं और जब उन दोनों की शादी की सालगिरह थी तो उन्होंने उस दिन हम लोगों को डिनर के लिए इनवाइट किया। मैं और मेरी पत्नी पारुल उस दिन डिनर के लिए उन…


आकृति की चूत से खून

Antarvasna, hindi sex kahani: मैं अपनी शॉप में बैठा हुआ था उस दिन मैं काफी ज्यादा परेशान था क्योंकि उस दिन काम कुछ भी नहीं हो रहा था इसलिए मैंने सोचा कि मैं जल्दी ही घर चला जाता हूं। मैं उस दिन जल्दी घर चला गया मौसम भी काफी ज्यादा अच्छा था और काफी ज्यादा…


प्रतिभा के होठों को चूम लिया

Antarvasna, kamukta: मुझे ऑफिस जाने के लिए देर हो रही थी मैं जल्दी से तैयार हुआ और अपने ऑफिस के लिए निकल गया। हालांकि ऑफिस पहुंचते पहुंचते भी मुझे बहुत ज्यादा देर हो चुकी थी। मैं जब ऑफिस में पहुंचा तो उस दिन मुझे मेरी पत्नी का फोन आया और वह मुझे कहने लगी कि…


दिव्या ने मेरा साथ देना शुरू कर दिया

Antarvasna, kamukta: प्रियम और मैं जब उस दिन एक दूसरे को मिले तो मैं प्रियम से मिलकर काफी खुश था। प्रियम मुझे काफी बरसों बाद मिला वह मेरा बचपन का दोस्त है और अब वह मुंबई में रहता है। प्रियम ने मुझे कहा कि तुमने बहुत ही अच्छा किया जो तुम मुंबई आ गए। मैं…


Page 2 of 4
1 2 3 4